July 18, 2024 9:32 am
Search
Close this search box.

28 जून को दिल्ली के 696 स्थाई वाटर निकासी पंपों में से 400 काम नहीं कर रहे थे और आज भी लगभग 300 काम नहीं करने की स्थिति में हैं – वीरेन्द्र सचदेवा

दिल्ली के 696 स्थाई वाटर निकासी पंपों में से 400 काम नहीं कर रहे थे

सोशल संवाद / नई दिल्ली : दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री वीरेन्द्र सचदेवा ने आज एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि चाहे पीने के पानी कमी से दिल्ली वालों की बदहाली हो या बरसात आने पर जलजमाव होने से इन दोनों स्थितियों के लिए अरविंद केजरीवाल सरकार की अक्रमण्यता जिम्मेदार है। दिल्ली में 287 चिन्हित-खतरनाक जल जमाव स्पॉट हैं और 28 जून, 2024 को उनमें से 250 से अधिक स्थानों पर पम्प ठप्प पड़े थे।

यह भी पढ़े : केंद्र सरकार ने नीट पेपर लीक मामले में सब जानते हुए भी सुप्रीम कोर्ट में झूठ बोला- गोहिल

28 जून को लोक निर्माण विभाग द्वारा दिल्ली में लगाये 696 स्थाई वाटर निकासी पंपों में से 400 से अधिक काम ही नहीं कर रहे थे। हमारी जानकारी अनुसार 100 से अधिक पंप इसलिए नहीं काम कर रहे थे क्योंकि उनके लिए डीजल तेल उपलब्ध नहीं था। इसके आलावा दिल्ली जल बोर्ड, फ्लड विभाग के पम्प हाउस एवं दिल्ली नगर निगम के भी 465 पंप दिल्ली में लगाये जाते हैं और उनमें से भी अधिकांश आज भी काम नहीं कर रहे हैं। इसका प्रमाण है कि कल बदहाली के 2 दिन बाद जब मंत्री आतिशी स्वयं मिंटो रोड़ पुल के नीचे होने वाले जलजमाव की निकासी के लिए लगाये पंपिंग स्टेशन पहुंची तो कल भी 8 में 3 पंप काम करने की स्थिति में नहीं थे।

भारती नगर पंपिंग स्टेशन पर भी दिल्ली सरकार के लोक निर्माण विभाग के पंप 28 जून को बंद पाये गये थे और आज भी स्थिति संतोषजनक रूप से ठीक नहीं हुई है। वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा है कि दिल्ली में हर साल मानसून में 1300 के लगभग अस्थाई अतिरिक्त वाटर निकासी पंप भी मानसून में किराये पर लेकर लगाये जाते हैं पर इस वर्ष एक भी नहीं लगाया गया।

अरविंद केजरीवाल सरकार का तर्क है कि चुनाव अचार संहिता लगी होने के कारण आवश्यक टेंडर नहीं हो पाया पर सच यह है कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की जमानत करवाने एवं चुनाव लड़ने में मदमस्त सरकार का इस आवश्यक काम पर कोई ध्यान ही नहीं था।

वीरेन्द्र सचदेवा ने कहा है कि मानसून के लिए अतिरिक्त वाटर निकासी पंप किराये पर लेने का टेंडर एक वार्षिक जनहित कार्य है और अगर सत्ता के नशे में मदमस्त अरविंद केजरीवाल सरकार यदि चुनाव आयोग से पत्र लिखकर विशेष अनुमति मांगती तो जरूर मिलती पर इन्होंने इसे आवश्यक समझा ही नहीं। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा है कि वैसे भी चुनाव आचार संहिता से अतिरिक्त वाटर निकासी पंप ना लग पाने का बहाना लचर है, आचार संहिता 5 जून को खत्म हो गई थी लोक निर्माण मंत्री सुश्री आतिशी चाहती तो 6 या 7 जून को टेंडर कर 20 जून तक अतिरिक्त वाटर निकासी पंप लगा सकती थी।

सचदेवा ने कहा है कि मैं लोकनिर्माण एवं दिल्ली जल बोर्ड दोनों की मंत्री आतिशी को चुनौती देता हूँ कि वह बतायें की दिल्ली में सभी विभागों के कुल कितने स्थाई एवं अस्थाई वाटर निकासी पंप मानसून में होने चाहिए और उनमें से आज कितने काम कर रहे हैं। दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा है की देश की राजधानी दिल्ली में 11 लोगों की जल में डूबने से मृत्यु शर्मनाक है और भाजपा मांग करती है की दिल्ली सरकार इन सब बेबस लोगों की मृत्यु पर शोकाकुल परिवारों को एक एक करोड़ रूपए का मुआवज़ा दे।

साथ ही पुरानी दिल्ली के थोक बाजारों के साथ ही दिल्ली भर में भूतल के एवं बेसमेंटों के घरों एवं आफिसों में हुए नुकसान की भी पूर्ति दिल्ली सरकार एवं दिल्ली नगर निगम करे।

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी