July 15, 2024 3:55 am
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

जेएनएसी की टीम के साथ पुलिस ने व्यापारियों पर बरसाई लाठियां, व्यापारियों में आक्रोश

सोशल संवाद/ जमशेदपुर : जमशेदपुर अक्षेस की उडऩदस्ता टीम ने बिष्टुपुर के डायगोनल रोड पर अतिक्रमण हटाने के दौरान व्यापारियों के विरोध पर पुलिस के साथ मिल कर व्यापारियों पर जमकर लाठियां बरसायी. व्यापारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा. इस घटना का सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने कड़ी निन्दा करते हुए उपायुक्त से मामले की जांच कराने की मांग करते हुए जेएनएसी के दोषी अधिकारियों पर कार्रवाई की मांग की.

शहर को अतिक्रमण मुक्त बनाने के क्रम में जमशेदपुर अक्षेस की उडऩदस्ता टीम शुक्रवार की दोपहर बिष्टुपुर स्थित डायगोनल रोड जेसीबी लेकर पहुंची. जेएनएसी के अधिकारियों के निर्देश पर तीन व्यापारियों के दुकानों के आगे बनी सीढिय़ों व चबूतरों के भाग को तोड़ दिया गया, जिसका व्यापारियों ने विरोध करना शुरू कर दिया. चैम्बर के पूर्व उपाध्यक्ष समेत अन्य दुकानदारों ने जेएनएसी के अधिकारियों ने इसकी नोटिस दिखाने की मांंग करने लगे. इसके बाद जेएनएसी की उडऩदस्ता टीम ने व्यापारियों के साथ कहासुनी करनी शुरू कर दी. इसके बाद मामला बढ़ता चला गया उडऩदस्ता टीम के साथ व्यापारियों की धक्का-मुक्की शुरू  हो गई. मामले ने इतना तूल पकड़ लिया कि उडऩदस्ता टीम ने पुलिस के साथ मिल कर व्यापारियों पर लाठियां बरसानी शुरू कर दी.

दुकानदारों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटना शुरू कर दिया गया. उडऩदस्ता  व पुलिस के जवानों की इस कार्रवाई को देखते हुए घटनास्थल से व्यापारियों को भाग कर अपनी जान बचानी पड़ी. इस घटना में टीम के साथ कुछ व्यापारियों को चोटें भी आयीं जिन्हें एमजीएम अस्पताल में इलाज कराया गया. जेएनएसी के विशेष पदाधिकारी अरविन्द तिर्की, अभियंता एम के प्रधान, सिटी मैनेजर प्रकाश साहू, जाय गुडिय़ा, रवि भारती समेत करीब दर्जन भर उडऩदस्ता के जवान मौजूद थे.

चैम्बर ने व्यापारियों पर पुलिसिया लाठीचार्ज की निन्दा की

सिंहभूम चैम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्रीज ने बिष्टुपुर डायगोनल रोड  के व्यापारियों पर जेएनएसी अधिकारियों व कर्मचारियों के अतिक्रमण हटाने के दौरान किए गये बर्बरतापूर्वक लाठीचार्ज की कड़े शब्दों में निंदा की है. लाठीचार्ज के दौरान राहगीरों को भी नहीं बख्शा गया. चैम्बर अध्यक्ष विजय आनंद मूनका व महासचिव मानव केडिया ने व्यापारियों पर लाठीचार्ज का विरोध करते हुए उपायुक्त से मांग की की कि इस घटना की त्वरित जांच करते हुए जिम्मेदारी अधिकारियों पर कार्रवाई की जाए. उन्होंने कहा कि चैम्बर अतिक्रमण का संरक्षक नहीं है, लेकिन अगर प्रशासन को अतिक्रमण हटाना ही है तो पहले दुकानदारों को नोटिस जारी किया जाना चाहिए था और माईक के द्वारा एनांउस कर व्यापारियों को अपने सामानों को हटाने के लिये समय दिया जाना चाहिए था, लेकिन ऐसे किसी भी कार्य को किये बगैर सीधे अतिक्रमण हटाना और अपने सामानों की रक्षा के लिए आगे आये दुकान मालिकों पर लाठीचार्ज करना यह एक पूर्वनियोजित मंशा को जाहिर करता है, चैम्बर इसे कतई बर्दाश्त नहीं करेगा. चैम्बर ने प्रशासन एवं जेएनएसी अधिकारियों से सवाल करते हुये कहा कि प्रशासन के द्वारा अतिक्रमण के लिये दोतरफा रवैया अपनाया जाना कहां तक सही है. एक तरफ स्थाई दुकानदार टैक्स का भुगतान करते हैं, उनके खिलाफ इस तरह अमर्यादित व्यवहार और वहीं बाजार व सडक़ों पर अतिक्रमण कर वर्षों तक व्यापार कर कमाई करने वाले और सरकार को कोई टैक्स नही देने वाले अतिक्रमणकारियों को पूरी तरह छूट दे दी जाती है.

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी