July 17, 2024 4:09 pm
Search
Close this search box.

दिल्ली प्यासी मर रही है क्योंकि आम आदमी पार्टी की सरकार अपने प्रचार और प्रसार में व्यस्त हैं – बाँसुरी स्वराज

दिल्ली प्यासी मर रही है क्योंकि आम आदमी पार्टी की सरकार अपने प्रचार और प्रसार में व्यस्त हैं

सोशल संवाद / नई दिल्ली : दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेन्द्र सचदेवा, केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री हर्ष मल्होत्रा, सासंद मनोज तिवारी, रामवीर सिंह बिधूड़ी, योगेंद्र चंदोलिया एवं बाँसुरी स्वराज ने आज एक संयुक्त पत्रकार सम्मेलन को सम्बोधित किया और कहा कि यह खेदपूर्ण है कि गत 10 साल से दिल्ली सरकार की अकर्मण्यता एवं भ्रष्टाचार के चलते जहाँ दिल्ली का विकास ठप्प रहा है तो वहीं आज देश की राजधानी में लोग विशेषकर गरीब अपना दैनिक काम धंधा छोड़ कर एक एक बाल्टी पानी के लिए संघर्ष कर रहे हैं।

यह भी पढ़े : पीएम मोदी आज शाम जाएंगे जम्मू कश्मीर, कल डल झील किनारे करेंगे योग

दिल्ली भाजपा के शीर्ष नेताओं ने कहा की दिल्ली की केजरीवाल सरकार की लगातार चल रही झूठी ब्यानबाज़ी के बाद हमने हरियाणा सरकार के मुख्य मंत्री श्री नायैब सिंह सैनी से बात की तब जो तथ्यात्मक आंकड़े एवं जानकारी सामने आई है उसको हम दिल्ली वालों के समक्ष रख रहे हैं और हरियाणा से पानी सप्लाई को लेकर झूठे भ्रमात्मक प्रचार के लिए हम दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार की सख्त निंदा करते हैं।

दो वर्ष पूर्व तक जब जब अरविंद केजरीवाल सरकार पानी चोरी एवं बर्बादी रोकने में अपनी असफलता के चलते दिल्ली को गर्मियों में पूरा पानी देने में विफल रही है तो हरियाणा एवं पंजाब पर दोष मढ़ती रही परइस वर्ष केवल हरियाणा पर दोष मढ़ रही है।

अपने भ्रष्टाचार के चलते दिल्ली को जल माफिया के हाथों गिरवी रख चुकी आम आदमी पार्टी सरकार अपनी सहयोगी पंजाब सरकार से अतिरिक्त जल ना मांग कर हरियाणा एवं हिमाचल सरकार से मांग रही है ताकि इनको असहयोगी दिखा कर भाजपा एवं कांग्रेस की राज्य सरकारों को बदनाम कर सके।

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष ने कहा है की हम लगातार कहते रहे हैं और आज फिर दोहराते हैं दिल्ली में जल संकट नही दिल्ली में चल रहा है जल भ्रष्टाचार जिसमें दिल्ली की पूरी सरकार एवं आम आदमी पार्टी शामिल है। हम दिल्ली सरकार से पूछते हैं यदि दिल्ली में जल संकट है जल की कमी है तो पैसा देते ही हर नुक्कड़ पर जल टैंकर्स और पानी के 20 लीटर कैन धड़ल्ले से कैसे मिल रहे हैं। यह कहना अतिशयोक्तिपूर्ण नही होगा की दिल्ली में जल की कोई कमी नही है बल्कि केजरीवाल सरकार उपलब्ध जल की काला बाजारी करवा रही है।

दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेन्द्र सचदेवा ने केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री हर्ष मल्होत्रा एवं अन्य सांसदों की उपस्थिती में हरियाणा सरकार से प्राप्त  तथ्यों को मीडिया के माध्यम से दिल्ली वालों के समक्ष रखा। उन्होंने कहा कि यह पहला मौका नहीं जब केजरीवाल सरकार हरियाणा सरकार पर दोषारोपण कर रही हो।

2018 में भी केजरीवाल सरकार ने इसी तरह हरियाणा एवं पंजाब राज्यों पर दिल्ली को पूरा जल ना देने के आरोप लगाये थे। आरोप लगाती केजरीवाल सरकार अपर यमुना रिवर बोर्ड के समक्ष आरोप लेकर गई और जांच के बाद यमुना बोर्ड ने फैसला दिया की दिल्ली सरकार का आरोप झूठा है और हरियाणा दिल्ली को संबोधित समझौते अनुसार पूरा जल सप्लाई कर रहा है।

सचदेवा ने कहा कि इस वर्ष अप्रैल से ही दिल्ली में आम नागरिकों को जल की कमी सामने आने लगी और दिल्ली भाजपा ने मामले की जांच कर पाया कि दिल्ली में ना हरियाणा से आने वाले कच्चे जल की कमी है ना ही शुद्ध किये पेयजल की पर फिर भी हर ओर पानी के लिए हाहाकार है। दिल्ली भाजपा लगातार अप्रैल से इस मामले को उठाती रही। हमने लगातार कहा है और आज फिर दोहराते हैं कि दिल्ली में जल संकट नही दिल्ली में चल रहा है जल भ्रष्टाचार जिसमें दिल्ली की पूरी सरकार एवं आम आदमी पार्टी शामिल है।

सचदेवा ने कहा कि मई 2024 के अंत तक भाजपा ने स्थापित कर दिया कि पाइप लीकेज एवं सरकार द्वारा संरक्षित जल टैंकर्स माफिया की लूट दिल्ली की जल समस्या के लिए जिम्मेदार है। भाजपा के बढ़ते दबाव के चलते जल चोरी से जनता का ध्यान भटकाने के लिए दिल्ली सरकार 31 मई को इस मामले को फिर से माननीय सर्वोच्च न्यायालय ले गई जहाँ केजरीवाल सरकार को फिर फटकारते हुए माननीय न्यायालय ने कहा कि बार बार यहाँ क्यों आते हैं, या तो पड़ोसी राज्यों से बात कीजिए या फिर यमुना बोर्ड जाइये।

6 जून को दिल्ली सरकार की अर्जी पर अपर, यमुना रिवर बोर्ड की 62वीं ओचक बैठक हुई जिसकी सुनवाई 9 जून तक चली और पूरी  जांच के बाद यमुना बोर्ड ने फैसला सुनाया कि दिल्ली को आज भी हरियाणा से समझौता कोटा 924 क्यूसेक से कहीं अधिक 1050 क्यूसेक पानी मिल रहा।  इसके बाद यह रिपोर्ट फिर माननीय सर्वोच्च न्यायालय गई और  माननीय न्यायधीशों के निर्देश पर 14 जून को अपर यमुना रिवर बोर्ड ने पुनः दिल्ली की शिकायत एवं हरियाणा एवं हिमाचल प्रदेश सरकारों के तथ्यों पर पुनः सुनवाई की।

केन्द्रीय राज्य मंत्री हर्ष मल्होत्रा ने कहा कि दिल्ली में जल संकट एक गंभीर विषय है और दिल्ली की जनता को पानी देने की जिम्मेदारी  केजरीवाल सरकार की है, उसका सप्लाई रिसोर्स पूरा है तो फिर इस विषय पर सुश्री आतिशी दूसरों पर आरोप लगाकर राजनीति क्यों कर रही है। उन्होंने कहा कि अरविंद केजरीवाल और उनके मंत्री अपनी जिम्मेदारी निभाने में परिपक्व नहीं है क्योंकि इनके पास जब भी जिम्मेदारी आती है यह सिर्फ लापरवाही करते हैं और दिल्ली के अंदर नगर निगम की जिम्मेदारी आई तो उसमें भी इनकी लाचारी साफ दिख रही है। अगर 18 नालों की निकासी पर एसटीपी प्लांट लगा दिए गए होते तो आज दिल्ली प्यासी नहीं रहती। दिल्ली में पाइप लाइन को बिछाए हुए 50 वर्षो से ज्यादा हो गए हैं। दिल्ली की जलमंत्री आतिशी को बजाय दूसरों पर आरोप लगाने से एक सुव्यवस्थित प्लान के तहत दिल्ली की जनता को पर्याप्त रूप से पानी मिले इसकी चिंता करनी चाहिए।

सांसद मनोज तिवारी ने कहा कि पानी की किल्लत पिछले कई दिनों से है तो उसके लिए विधानसभा का स्पेशल सत्र क्यों नहीं बुलाया गया। विधानसभा सत्र बुलाकर केजरीवाल सरकार बताए कि पिछले 10 सालों में उन्होंने कहां-कहां पानी की पाइप लाइन बिछाने का काम किया। अप्रैल मई से पानी की कमी पर कोई बातचीत केजरीवाल के मंत्रियों ने नहीं की लेकिन जैसे ही पानी की किल्लत शुरु हुई तब उन्होंने इस पर राजनीति करना शुरु कर दिया। आखिर क्यों आम आदमी पार्टी जनता की शत्रु है। हर बात में बार बार विधानसभा का स्पेशल सत्र बुलाने वाले पानी की स्थिती पर चर्चा के लिए विधानसभा बैठक बुलाये।

तिवारी ने कहा भू जल स्तर कहां हैं आज और जल संरक्षण के लिए केजरीवाल सरकार ने अब तक क्या किया है ? आज ही इन्हें सिर्फ पानी की याद आई है जब दिल्ली की जनता पानी के लिए परेशान है। दिल्ली की जनता के अंदर भ्रम फैलाने और राजनीति करने से कभी फुर्सत मिले तब तो यह दिल्ली की जनता को पानी देने की बात करेंगे। दिल्ली की जनता इन्हें कभी माफ नहीं करेगी क्योंकि यह हर रोज सिर्फ झूठ बोलने का काम करते हैं और कुछ नहीं।

यह भी पढ़े : डिग्री कॉलेज के रूप में सीएम चंपाई सोरेन ने राजनगर व गम्हारिया वासियों को दी बड़ी सौगात

सांसद रामवीर सिंह बिधूड़ी ने कहा कि 2013 में किए गए वे सभी वायदे केजरीवाल और उनकी सरकार आज भूल चुकी है। चाहे वह नल से जल देने की बात हो, टैंकर हटाने की बात हो या फिर लीकेज की बात हो। शीला दीक्षित की सरकार में 734 टैंकर थे जो अब बढ़कर 1204 हो गये हैं। पिछले 6 सालों में लीकेज परसेंटेज 40 फीसदी से 52 फीसदी तक बढ़ गई है। सुप्रीम कोर्ट ने अपर यमुना बोर्ड को हरियाणा सरकार द्वारा दिल्ली को पानी दिया जा रहा है या नहीं, इसकी रिपोर्ट देने को कहा जिसके बाद बताया गया कि दिल्ली को पूरा पानी मिल रहा है।

बिधूड़ी ने कहा कि मुनक नहर के निर्माण में भी दिल्ली सरकार ने हरियाणा सरकार की कोई मदद नहीं की। 124 करोड़ रुपए दिल्ली सरकार को देने थे, उन्होंने नहीं दिया लेकिन उसके बावजूद दिल्ली को पूरा पानी मिल रहा है। उन्होंने कहा कि हिमाचल सरकार ने कोर्ट में कहा है कि उसने अभी कोई पानी नहीं दिया है लेकिन उसके बावजूद आतिशी कह रही हैं कि हरियाणा पानी नहीं छोड़ रहा है। इस झूठ के साथ अगर आतिशी अनशन पर बैठ सकती है तो हम दिल्ली को पानी दिलाने के लिए भी धरना कर सकते हैं।

सांसद योगेंद्र चंदोलिया ने कहा कि 15 जून को मैं मुनक नहर गया जहां पानी का बहाव बहुत तेज था इसका साफ मतलब है कि हरियाणा सरकार ने पानी देने में किसी भी प्रकार की कमी नहीं की है। आम आदमी पार्टी ने ही लोगों तक पानी ना पहुंचकर सिर्फ राजनीति करने की कोशिश की है।  इसका एक उदाहरण सुल्तानपुरी में देखने को मिला जहां एक लाख लीटर टंकी में पानी होने के बावजूद लोग वहां धरना पर बैठे थे क्योंकि वहां आम आदमी पार्टी के विधायक और निगम पार्षद मिलकर जनता को पानी नहीं दे रहे हैं।  टैंकर के माध्यम से आप सरकार पानी बिकवाने में लगी है।

सांसद बाँसुरी स्वराज ने कहा कि दिल्ली प्यासी मर रही है क्योंकि आम आदमी पार्टी की सरकार अपने प्रचार और प्रसार में व्यस्त हैं।  यह एक निक्कमी सरकार है जिसने दिल्ली को जान बूझकर प्यासा छोड़ रखा है केवल अपने भ्रष्टाचार और अवैध टैंकर माफियाओं को प्रोत्साहित करने के लिए। उन्होंने कहा कि आतिशी का अनशन केवल उनके भ्रष्टाचार को परिलक्षित करता है। 10 वर्षों तक सत्ता में रहने के बाद भी आज वे काम नहीं कर पा रही हैं। ना तो उनके विधायक, निगम पार्षद को पाइपों की लीकेज दिखाई दे रहे हैं। सत्ता में मोह में मनमस्त सभी आप नेता होकर आंखे मूंद कर बैठे हैं।    

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी