July 15, 2024 4:13 am
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

न जान न पहचान फिर भी मदद के लिए भागे नीरज सिंह

सोशल संवाद/जमशेदपुर: एक रिसर्च के मुताबिक अत्यधिक गर्मी से अगर गर्भवती महिलाओं का देखभाल सही से नहीं हो पाए तो प्रीमेच्योर डिलीवरी का खतरा बढ़ जाता है। मानगो के उलीडीह बस्ती की रहने वाली सीता सिंह (32) सात महीने की गर्भवती हैं, जो कि मानगो के आजादनगर स्थित उमा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में कल से भर्ती हैं। उनकी स्थिति काफी गंभीर होते देख डॉक्टर ने ऑपरेशन की सलाह दी, पर गरीबी से जूझ रहे परिवार की आर्थिक स्थिति सही नहीं होने के कारण वे कुछ नहीं कह पा रहे थे।

ऐसे में समाजसेवी और भाजपा नेता नीरज सिंह के मोबाइल पर एक अज्ञात नंबर से कॉल आता है और एक महिला अपनी व्यथा सुनाकर रोने लगती है। नीरज सिंह बिना देरी किए ही डॉक्टर ओम प्रकाश से फोन पर बात कर उनके इलाज शुरू करवाने को कहते हैं और अस्पताल ने भी तत्काल इलाज शुरू कर दिया। सुबह होते ही नीरज सिंह अस्पताल पहुँच कर महिला से मिले और रोते-बिलखते परिवार को सांत्वना दी। उन्होंने अस्पताल प्रबंधन से बात कर आर्थिक मदद भी की।

दरअसल, मरीज की माँ मंजू सिंह मरीज को लेकर दर-दर भटकती रहीं। वे एम.जी.एम. और कई अस्पताल घूमीं लेकिन सही इलाज और देखभाल नहीं मिलने के कारण वे किसी की मदद से उमा सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल पहुंचीं और अब मरीज स्वस्थ एवं इलाजरत हैं।

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी