February 23, 2024 5:15 am

Junk food की लत आपके सेहत पर पड़ सकता है भारी

सोशल संवाद / डेस्क : आज के इस भाग दोड़ भरी ज़िन्दगी में सभी हेल्दी फूड की जगह जंक फ़ूड का सेवन कर रहे है ,ये जानते हुए भी की जंक फ़ूड हमारे पुरे स्वास्थ के लिए हानिकारक है जंक फ़ूड के नुक्सान एक नही बल्कि कई सारे है और इसके अधिक सेवन के वजह से कई सारी बीमारी हमारे शरीर में प्रवेस कर हमें बीमार कर देती है | और इसके स्वाद का जादू कुछ ऐसा है की यह बच्चे से लेकर व्यस्कों का प्रिय आहार बन चुका है। आइए जानते हैं जंकफूड का अधिक सेवन करने से सेहत को क्या नुकसान होते हैं?

सिरदर्द की परेशानी

अगर आप काफी ज्यादा जंकफूड का सेवन करते हैं तो आपको सिरदर्द की परेशानी काफी ज्यादा हो सकती है. दरअसल, फास्ट फूड में मोनोसोडियम ग्लूटामेट का काफी ज्यादा इस्तेमाल होता है. यह सिरदर्द का कारण बन सकता है बता दे की जंक फूड में सोडियम प्रचुर मात्रा में पाया जाता है, जैसे – फ्रैच फाइज इत्यादि से सिर दर्द होने की संभावना बढ़ जाती है। इन स्थितियों में आपको कम से कम जंग फूड खाना चाहिए और ज्यादा मात्रा में पानी का सेवन करना चाहिए।

मुंहासों की परेशानी

जंक फूड आपकी स्किन पर भी प्रभाव डालता हैं।  जैसे- हैमबर्गर बन्स, फ्रेंच फ्राइज, चिप्स में मौजूद कार्ब्स मुंहासे पैदा कर सकते हैं। इसकी वजह से आपकी स्किन पर काफी ज्यदा पिंपल्स और मुंहासे हो सकते हैं हाई ब्लड प्रेशर – फास्ट फूड में सोडियम भरपूर मात्रा में पाई जाती है, जो आपके ब्लड प्रेशर को बढ़ाती है और आपके हृदय तंत्र पर दबाव डाल सकती है। इसलिए कोशिश करें कि जंकफूड का अधिक सेवन न करें. 

दांतों की सड़न की समस्या

जंक फूड में नमक व शक्कर की मात्रा अधिक होती है जिससे यह आसानी से दांतों पर चिपक जाते हैं। तब मुंह के अंदर बैक्टीरिया पनपने के कारण दांत सड़ना शुरू हो जाते हैं। ध्यान न देने पर कीड़ा धीरे-धीरे दांत की नसों तक पहुंच जाता है। मुख्य रूप से अगर आपका बच्चा काफी ज्यादा कैंडी, चिप्स, चॉकलेट जैसी चीजों का सेवन करता है तो उनके दांतों में सड़न की परेशानी होना काफी आम है. 

हार्ट को  होगा नुकसान

जंकफूड के अधिक सेवन से हार्ट हेल्थ को भी नुकसान पहुंचता है. इसकी वजह से शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ता है, जिसके कारण हार्ट अटैक और हार्ट ब्लॉकेज की परेशानी बढ़ सकती है. बता दे की जंक फूड्स सेहत पर बुरा असर डालता  हैं. इनके सेवन से क्रोनिक बीमारियों से लेकर दिल से जुड़ी गंभीर बीमारियों और मोटापे का खतरा रहता है. ऐसे फूड्स को हमारा शरीर ट्राइग्लिसराइड्स में बदल देता है.

बढ़ सकता है डिप्रेशन 

हम रोजाना किसी न किसी तरीके से अल्ट्रा प्रोसेस्ड फूड का सेवन करते हैं.  रिसर्च में पाया गया कि इस तरह के खाने के प्रतिदिन सेवन से डिप्रेशन जैसा मानसिक विकार बढ़ता है. इसके साथ ही उदासी, तनाव और निराशा जैसे विकार भी उत्पन्न होते हैं. खासकर 18 से 24 साल की उम्र में इसका ज्यादा असर देखा गया है इसके साथ ही डिप्रेशन की समस्या भी बढ़ सकती है. रिसर्च के मुताबिक, जो बच्चे अधिक जंक फूड का सेवन करते हैं उनका व्यवहार हिंसात्मक हो सकता है.

Our channels

और पढ़ें