May 21, 2024 6:06 am
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

बीआरएस पार्टी भाजपा की बी टीम, मोदी के हाथ में मुख्यमंत्री केसीआर का रिमोट कंट्रोल- राहुल गांधी

Xavier Public School april

सोशल संवाद/दिल्ली (रिपोर्ट – सिद्धार्थ) : कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को तेलंगाना के खम्मम में आयोजित तेलंगाना जन गर्जना सभा में बीआरएस पार्टी को भाजपा की बी टीम बताते हुए कहा कि मुख्यमंत्री केसीआर का रिमोट कंट्रोल नरेंद्र मोदी के हाथ में है। मुख्यमंत्री केसीआर ने जो भ्रष्टाचार किया है, उस वजह से उन पर प्रधानमंत्री मोदी का दबाव है।

बीआरएस का मतलब बीजेपी रिश्तेदार समिति है। मुख्यमंत्री केसीआर और बीआरएस पार्टी ने तेलंगाना में जमकर लूट मचाई है। तेलंगाना में भाजपा पूरी तरह से खत्म हो गई है, भाजपा के चारों टायर पंक्चर हो गए हैं। कर्नाटक की तरह ही कांग्रेस पार्टी तेलंगाना में भ्रष्ट बीआरएस को हराने जा रही है। उन्होंने ऐलान किया कि तेलंगाना में कांग्रेस की सरकार आने पर वरिष्ठ नागरिकों, विधवाओं को प्रति माह चार हजार रूपये पेंशन के रूप में दिए जाएंगे।

विशाल जनसभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि तेलंगाना की जनता का एक सपना था। मगर बीआरएस ने पिछले नौ साल में तेलंगाना की जनता के इस सपने को कुचलने का काम किया है। टीआरएस ने अपना नाम बदलकर बीआरएस रख दिया। इसका मतलब बीजेपी रिश्तेदार समिति है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री सोचते हैं कि वह तेलंगाना के राजा हैं। तेलंगाना उनकी जागीर है। जो जमीन इंदिरा अम्मा और कांग्रेस पार्टी ने दलित, आदिवासियों और गरीब लोगों को दी थी। अब उस जमीन बीआरएस वापस ले रही है। यह जमीन मुख्यमंत्री की नहीं है, यह जमीन तेलंगाना की जनता की है। इस जमीन पर तेलंगाना की जनता का हक है। इस जमीन को कांग्रेस पार्टी तेलंगाना की जनता के हवाले करेगी।

उमड़े लाखों लोगों के जनसैलाब के जोश से  लबरेज़ राहुल गांधी ने कहा कि कुछ महीने पहले कांग्रेस ने कर्नाटक में एक भ्रष्ट सरकार के खिलाफ चुनाव लड़ा था। कांग्रेस पार्टी ने उस भ्रष्ट सरकार को हराया। कर्नाटक में एक तरफ भाजपा और उनके अरबपति दोस्त थे, वहीं दूसरी तरफ कर्नाटक के गरीब, किसान, युवा, मजदूर, दलित, आदिवासी, छोटे दुकानदार, अल्पसंख्यक, पिछड़े थे।

यह सब एकजुट होकर कांग्रेस पार्टी के साथ खड़े हो गए और कांग्रेस पार्टी ने भाजपा को हरा दिया। कर्नाटक की तरह ही तेलंगाना में होने जा रहा है। एक तरफ मुख्यमंत्री केसीआर, उनका परिवार व उनके 10-15 अरबपति मित्र हैं और दूसरी तरफ तेलंगाना के सभी गरीब, दलित, आदिवासी, पिछड़े, अल्पसंख्यक, छोटे दुकानदार,किसान, मजदूर हैं। कर्नाटक की तरह ही कांग्रेस पार्टी तेलंगाना में भ्रष्ट बीआरएस को हराने जा रही है।

कांग्रेस ने विपक्ष को साफ कह दिया कि अगर टीआरएस इस बैठक में आएगी तो कांग्रेस पार्टी इसमें शामिल नहीं होगी। कांग्रेस ने कहा कि बीआरएस भाजपा की बी टीम है। कांग्रेस पार्टी बीआरएस के साथ नहीं बैठ सकती। कांग्रेस पार्टी भाजपा की बी टीम बीआरएस से कभी समझौता नहीं कर सकती है। कांग्रेस पार्टी तेलंगाना की सत्ता से बीआरएस को हटाएगी।

राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस पार्टी तेलंगाना की जनता के लिए ऐतिहासिक कदम उठाने जा रही है। कांग्रेस पार्टी ने पहले वारंगल में रायतु डेकलरेशन किया। उसके बाद हैदराबाद में यूथ डेकलरेशन किया। चेयुता वायदा के जरिए अब कांग्रेस पार्टी सरकार में आने पर वरिष्ठ नागरिकों, विधवाओं को प्रति माह चार हजार रूपये पेंशन देगी। गरीबों की मदद करने के लिए कांग्रेस पार्टी का यह एक और ऐतिहासिक कदम है। इसके साथ ही पोडू जमीन को कांग्रेस पार्टी आदिवासी भाईयों को देगी। राहुल गांधी ने कहा कि कई व्यक्ति कांग्रेस पार्टी छोड़कर गए हैं। वह उन्हें संदेश देना चाहते हैं कि उनके लिए कांग्रेस पार्टी के दरवाजे खुले हैं। जो भी व्यक्ति कांग्रेस पार्टी की विचारधारा का है, उसके लिए कांग्रेस के दरवाजे खुले हैं। जो व्यक्ति भाजपा और बीआरएस की विचारधारा का है, उससे कांग्रेस पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है।

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी