April 24, 2024 12:40 pm
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

भारतीय शास्त्रीय,अर्ध-शास्त्रीय,लोकऔर बॉलीवुड नृत्य शैली पर प्रस्तुति

Xavier Public School april

सोशल संवाद/जमशेदपुर: टाटा स्टील फाउंडेशन की अर्बन सर्विसेज इकाई सीएसआर जमशेदपुर के एक हिस्से के रूप में शहर के शहरी क्षेत्रों के कल्याण के लिए तत्परता से काम कर रही है। सामाजिक विकास और शहरी क्षेत्र के कमजोर वर्गों की आर्थिक स्थिति की सुरक्षा करना हमारे लिए एक प्रमुख चिंता का विषय और रुचि का क्षेत्र रहा है। 

इन वंचित तबकों की महिलाओं, युवाओं और बच्चों के मौजूदा कौशल को पोषित करने और मजबूत करने के लिए, अर्बन सर्विसेज कला, खेल आदि के क्षेत्र में पिछले 18 वर्षों से पूरे जमशेदपुर के सामुदायिक केंद्रों में कोचिंग, सिलाई, मेहंदी, ब्यूटीशियन, शास्त्रीय नृत्य और संगीत,  जैसी अर्ध-कुशल और कुशल कक्षाओं को बढ़ावा दे रही हैं और संचालित कर रही हैं। इन लोगों को प्रेरित करने और कार्यक्रमों में शामिल करने और उनकी प्रतिभा दिखाने के लिए नियमित अंतराल पर कई कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। भारतीय शास्त्रीय नृत्य और समकालीन नृत्य रूपों को संरक्षित और बढ़ावा देने के लिए, हम हर साल नृत्य प्रतियोगिता/उत्सव और कार्यशालाएं आयोजित करते रहे हैं।

हमारे केंद्रों में प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से शामिल बच्चों और महिलाओं की प्रतिभा को पहचानने और बढ़ावा देने के लिए, अर्बन सर्विसेज ने नृत्य-बसंत… नृत्य के सभी रूपों का 3 (तीन) दिवसीय उत्सव आयोजित किया, जिसमें 65 टीमों से 630 प्रतिभागियों ने वर्गीकृत किए गए अपने सर्वश्रेष्ठ नृत्यों के रंग बिखेरे। यह एक खुला कार्यक्रम था जिसमें सभी पीढ़ी के बस्ती इलाकों में रहने वाली लड़कियों, लड़कों और महिलाओं ने एक ही मंच पर प्रदर्शन किया।

मस्ती की पाठशाला (एमकेपी) के लड़के और लड़कियां दोनों नृत्य के माध्यम से अपनी छिपी हुई प्रतिभा का प्रदर्शन करने के लिए इसमें भाग लेंगे।  एमकेपी वंचित बच्चों के लिए टीएसएफ द्वारा प्रबंधित एक आवासीय विद्यालय है। 15 टीमें अन्य समूहों के साथ प्रदर्शन करने जा रही हैं।

इस कार्यक्रम ने इन प्रतिभागियों को इस तरह की कला के सांस्कृतिक मूल्यों की गहराई को समझने और विभिन्न नृत्य रूपों की विभिन्न मुद्राओं के माध्यम से संचार करके इसे पुनर्जीवित करने में मदद की।  कार्यक्रम का उद्देश्य न केवल बच्चों की सीखने की क्षमताओं को समृद्ध करना था, बल्कि गृहिणी और कामकाजी महिलाओं को उनके सीमित क्षेत्र से बाहर आने के लिए एक मंच भी प्रदान करना था।

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी