April 18, 2024 6:31 pm
Srinath University Adv (1)

रेल विभाग के द्वारा रेलवे ट्रैक के नीचे से पाइप क्रॉस करने के लिए मशीन लगाने पर लगाई गई रोक- सुबोध झा

Xavier Public School april

सोशल संवाद/डेस्क: आज दिनांक 19 मार्च को बागबेड़ा महानगर विकास समिति के अध्यक्ष सुबोध झा के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता सुनील कुमार से मिलने पहुंचे नहीं मिलने पर फोन पर बातचीत हुई, सुनील कुमार ने कहा स्थल निरीक्षण करने आए हैं, आप पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के  एसडीओ से मिल ले मैं उनको फोन कर देता हूं., कार्यपालक अभियंता सुनील कुमार से फोन पर सुबोध झा की बात हुई , और विस्तृत रूप से सभी चीज की जानकारी दिए, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के एसडीओ ने सुबोध झा से कहा आदित्यपुर और जुगसलाई के बीच पार्वती घाट के पास रेलवे ट्रैक के नीचे से पाइप क्रॉस करने के लिए 365 मीटर गड्ढा खोदकर पाइप को प्रवेश करना है, रेलवे के द्वारा किसी भी प्रकार का कोई मशीन के माध्यम से काम करने पर रोक लगा दी गई है, सुबोध झा अध्यक्ष बागबेड़ा महानगर विकास समिति प्रतिनिधि मंडल के साथ रेलवे ट्रैक के नीचे पहुंचे, रेलवे ट्रैक को पार करने के लिए 365 मीटर लंबा 25 मिली मीटर मोटा पाइप 40 फुट का पर करना है।

यह भी पढ़े : हेमंत सोरेन की भाभी सीता सोरेन J.M.M को छोड़ बीजेपी में हुई शामिल

जो 365 मीटर लंबा होगा, और उसमें मैन्युअल लेबर घुसकर हल्का-हल्का गड्ढा खोदकर के और मिट्टी को बाहर निकलेंगे, जिसका कार्य को शुभारंभ कर दिया गया, पाइप बोकारो से टाटा पहुंच चुकी है, सुबोध झा ने फिर बागबेड़ा के बडौदा घाट में निर्माण किया जा रहे 23 पाया के स्थल का भी निरीक्षण  किया जिसमें से तीन पाया का निर्माण कार्य अभी बाकी है,जो एक महीना में कर देने की बात एसडीओ साहब ने कहीं, कार्यपालक अभियंता अभी भी कह रहे हैं कि जुलाई तक पानी उपलब्ध करा दिया जाएगा, सुबोध झा अध्यक्ष बागबेडा महानगर विकास समिति ने कहा इस वर्ष भी 113 गांव के 23 पंचायत एवं रेलवे क्षेत्र की 33 बस्तियों के 2 लाख 25000 जनता को पानी प्राप्त नहीं हो पाएगी, पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के अभियंता प्रमुख ने बागबेड़ा महानगर विकास समिति के द्वारा किए गए आंदोलन जमशेदपुर से दिल्ली पदयात्रा लिखित आश्वासन देकर आंदोलन को स्थगित करवाया था।

चीफ इंजीनियर सुरेश प्रसाद, अधीक्षक अभियंता शिशिर सोरेन एवं जिला प्रशासन लिखित रूप में अस्वस्थ किया था,  2023 में मार्च तक पानी बगबेड़ा ग्रामीण जला पूर्ति योजना से घर-घर दिला देंगे, आज,2024 मार्च समाप्त होने जा रहा है,पानी प्राप्त नहीं हुआ, फैसल एवं स्वच्छता विभाग के पदाधिकारी एवं झारखंड सरकार के झूठ लिखित आश्वासन के विरोध में झारखंड हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर किया गया, न्यायालय में भी विभाग के द्वारा 2024 जुलाई तक पानी देने का वादा किया गया है, इस प्रकार से जनता को गुमराह किया जा रहा है, न्यायालय को भी गुमराह किया जा रहा है, जिला प्रशासन को भी गुमराह किया जा रहा है, 2015 में बैग बड़ा एवं छोटा गोविंदपुर ग्रामीण जिला पूर्ति योजना का शिलान्यास 18 अप्रैल को झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास जी के द्वारा किया गया था, 2018 में ही पानी को उपलब्ध कराना था।

आज 2024 हो गया जनता बूंद बूंद पानी के लिए तरस रही है, अब जनता जनार्दन मीडिया से ही आग्रह  करती है,मीडिया तीसरा स्तंभ है सच्चाई को उजागर करने के लिए, न्यायालय को भी विभाग द्वारा गुमराह किया जा रहा है, जिला प्रशासन को भी गुमराह किया जा रहा है जनता को भी गुमराह किया जा रहा है, भारत सरकार,वर्ल्ड बैंक, राज्य सरकार एवं जनता की एक परसेंट जनरल से ₹425 और एक और एसटी के माध्यम से 225 रुपया की भागीदारी 237 करोड़ के माध्यम से इस योजना को पूरा करना था,, आज के समय जल जीवन मिशन के तहत यह सारी योजनाओं को पूरा करना है, 237 करोड रुपए का गमन हो गया, और बागवेड़ा की जनता को पानी नहीं प्राप्त हुआ, पुणह 50 करोड़ 58 लाख रुपया  बागबेड़ा महानगर विकास समिति के द्वारा किए गए आंदोलन को झूठा गलत  लिखत श्वसन देकर खत्म कर दिया गया।

इस लिखित आश्वासन के विरोध में झारखंड हाई कोर्ट मैं जनहित याचिका दयार के बाद कोर्ट के आदेश पर झारखंड सरकार के द्वारा योजना उपलब्ध कराने के लिए 50 करोड़ 58 लाख रुपया की फिर से स्वीकृतिहुई है, विभाग विभाग एवं सरकार बैग बाद के 2 लाख 25000 जनता को पानी नहीं पिलाना चाहती है, न्यायालय में भी तारीख पर तारीख और विभाग के द्वारा भी  डेट पर डेट दी जा रही है और इसका कोई समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है, आज के प्रतिनिधि मंडल में  सुरेश प्रसाद, अशोक पत्रों, निरंजन पात्रो प्रमुख थे।

दिल्ली पदयात्रा में हुए समझौते का पत्र भी साथ भेज रहा हूं, बड़ौदा घाट में हो रहे पाया निर्माण का भी फोटो भेज रहा हूं,जुगसलाई और आदित्यपुर के पास पार्वती घाट के पास रेलवे ट्रैक के नीचे से365 मीटर पाइप पार करना है, उसका भी तस्वीर भेज रहा हूं।माननीय संपादक महोदय जी जमशेदपुर प्रेस, टीवी चैनल, इलेक्ट्रॉनिक मीडिया, तमाम संपादक महोदय एवं  पत्रकारों से विनती है, जनहित को ध्यान में रखते हुए, आप सभी भारत के तीसरे स्तंभ है, आप सभी ही इस जनता की जल समस्या का समाधान कर पुण्य का भागी बने।

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी