June 22, 2024 10:55 am
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

दांतों के साथ-साथ टंग क्लीनिंग क्यों है जरूरी

sona davi ad june 1

सोशल संवाद / डेस्क : शरीर को सेहतमंद रखने के लिए हम कड़ी मेहनत करते है पर जब बात मुंह की आती है तो हम सब सिर्फ ब्रश कर के छोड़ देते है. पर सिर्फ ब्रश करने  से पुरे मुंह की सफाई नही होती है. ओरल हाइजीन के लिए और भी चीज़े ज़रूरी होती है.उनमे से एक है टंग क्लीनिंग यानि कि जीभ की सफाई.

तो आइये जानें क्यों ज़रूरी है, रोज़ाना टंग क्लीनिंग

1. टेस्ट इंप्रूव होना

मेडिकल न्यूज टुडे के मुताबिक रोज़ाना टंग क्लीनिंग न करने से टेस्ट बड्स ब्लॉक होने लगते है. इससे स्वाद को पहचानना मुश्किल हो जाता है.अगर आप नियमित तौर पर जीभ की सफाई करते हैं, तो इससे जीभ पर जमने वाले बैक्टीरियार अपने आप दूर होते चले जाएंगे. इसके अलावा भोजन के डाइजेशन से लेकर एसिमिलेट करने तक हर चीज़ में फायदा मिलता है.

2.सांस की दुर्गंध से मुक्ति

रोज़ाना जीभ को क्लीन करने से सांसों की बदबू  दूर होने लगती है. टंग स्क्रैपिंग आपकी ओरल हेल्थ के लिए फायदेमंद हैं. इसकी मदद से माउथ बैक्टीरिया और अन्य प्रकार के संक्रमण नहीं पनपते हैं. ऐसे में ओरल हाइजीन के लिए केवल दांतों की सफाई काफी नहीं है.जीभ को क्लीन करने के लिए सॉफ्ट ब्रश की जगह स्क्रेपर का ही प्रयोग करें.

3. डेंटल हेल्थ में होगा सुधार

अगर आपके दांतों में भी दर्द रहता है और गम्स स्वैल हो रहे हैं, तो इसके लिए जीभ की नियमित सफाई न करना भी एक बड़ा कारण है. जीभ पर मौजूद टॉक्सिन्स दांतों में कैविटी, टूटने और सड़न का कारण साबित होते हैं. ऐसे में नियमित जीब भी सफाई बेहद ज़रूरी है .इससे दांतों तक पहुंचने वाली समस्याओं से राहत मिल जाती है.

4. जीभ के रूप रंग में बदलाव

जब जीभ की रेगुलर सफाई नहीं होती है, तो उस वक्त टंग के उपर चबाए हुए खाने की एक लेयर जमने लगती है. इसके बाद जीभ का रंग सफेद नज़र आने लगता है और टेस्ट बड्स दिखने बंद हो जाते हैं. जीभ की रंगत को सुधारने और पहली जैसे करने के लिए रोज़ाना साफ करें और इस पर जमने वाली परत को रिमूव करें.

5. इम्यून सिस्टम होगा मज़बूत

जीभ पर मौजूद संक्रमण हमारी हेल्थ को कई प्रकार से नुकसान पहुंचाते हैं. ऐसे में प्रतिरक्षा प्रणाली को मज़बूत बनाने के लिए सफाई आवश्यक है. इससे जीभ पर जमा टॉक्सिक पदार्थ आसानी से निकल जाते हैं. इससे हमारा शरीर स्वस्थ बना रहता है और हम बीमारियों से भी दूर रहते हैं.

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी