April 18, 2024 7:08 pm
Srinath University Adv (1)

आम आदमी पार्टी ने दिल्ली और हरियाणा में अपने पांचों उम्मीदवारों का किया ऐलान

Xavier Public School april

सोशल संवाद/दिल्ली (रिपोर्ट – सिद्धार्थ प्रकाश ) : इंडिया गठबंधन का घटक दल आम आदमी पार्टी ने मंगलवार को दिल्ली और हरियाणा में अपने हिस्से आई पांचों लोकसभा सीटों पर उम्मीदवारों का एलान कर दिया। ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में हुई पॉलिटिकल अफेयर्स कमेटी की बैठक में पांचों उम्मीदवारों के नामों पर अंतिम मुहर लगी। ‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संगठन महासचिव डॉ. संदीप पाठक ने प्रत्याशियों की घोषणा करते हुए कहा कि दिल्ली में कांग्रेस के साथ हुए समझौते में हमारे हिस्से चार सीटें आई हैं। जिसमें नई दिल्ली सीट से सोमनाथ भारती, पश्चिमी दिल्ली से महाबल मिश्रा, दक्षिणी दिल्ली से सहीराम और पूर्वी दिल्ली से कुलदीप कुमार उम्मीदवार बनाए गए हैं। इसी तरह, हरियाणा में हमारे हिस्से आई कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट से वहां के प्रदेश अध्यक्ष सुशील गुप्ता प्रत्याशी होंगे। उन्होंने कहा कि इंडिया गठबंधन पूरी मजबूती के साथ लोकसभा चुनाव लड़ने जा रहा है। इस समय देश को एक नए विकल्प की जरूरत है और इस बार इंडिया गठबंधन जनता को नया विकल्प देगा।

‘‘आप’’ के राष्ट्रीय संगठन महासचिव डॉ. संदीप पाठक ने कहा कि आम आदमी पार्टी इंडिया गठबंधन में रहते हुए पांच राज्यों में चुनाव लड़ने जा रही है। इन सीटों पर आम आदमी पार्टी के कुल 23 उम्मीदवार होंगे। इनमें से पांच उम्मीदवारों की पहले ही घोषणा की जा चुकी है। जबकि, आज पांच अन्य उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर रहे हैं। इनमें 4 दिल्ली और 1 हरियाणा से है। उन्होंने कहा कि नई दिल्ली लोकसभा सीट से सोमनाथ भारती, दक्षिणी दिल्ली से सहीराम, पश्चिमी दिल्ली से महाबल मिश्रा, पूर्वी दिल्ली से कुलदीप कुमार और कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट से सुशील गुप्ता आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी होंगे। आम आदमी पार्टी ने लोकसभा चुनाव के लिए जिन उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, उन लोगों की जनता में काफी अच्छी छवि है और इन्होंने बहुत अच्छा काम किया है।

डॉ. संदीप पाठक ने कहा कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस के साथ समन्व्यय के लिए आम आदमी पार्टी ने एक कॉर्डिनेशन कमेटी का प्रपोजल रखा है। एक-दो दिन में इस पर निर्णय ले लिया जाएगा। इस बार इंडिया गठबंधन पूरी मजबूती के साथ चुनाव लड़ रही है। देश को एक विकल्प की जरूरत है तो इस बार जनता को वह जरूर मिलेगा।भाजपा के सातों सांसद दिल्ली में कहीं नहीं दिखते, जबकि ‘‘आप’’ के उम्मीदवार हर जगह दिखते हैं- गोपाल राय

वहीं, “आप“ की वरिष्ठ नेता आतिशी ने कहा कि आम आदमी पार्टी देश की इकलौती पार्टी है, जो जातिवाद की राजनीति को खत्म करने का प्रयास कर रही है। वरना दिल्ली समेत देश की राजनीति को देखें तो चाहे लोकसभा चुनाव हो या फिर विधानसभा का, जब भी टिकटों का फैसला होता है तो हर सीट में जातियों की संख्या के आधार पर टिकटों का वितरण होता है। लेकिन जब से आम आदमी पार्टी राजनीति में आई है, तब से इस प्रकार के समीकरण को खत्म करने का प्रयास शुरू हो चुका है। “आप“ चुनाव में टिकट देने से पहले उम्मीदवारों में बस यह देखती है कि कौन जनता के लिए काम करना चाहता है। कौन जनता के बीच में रहकर, उनकी सेवा करता है और कौन उनकी समस्याओं का समाधान करता है। इसको देखते हुए कुलदीप कुमार मोनू को हमने पूर्वी दिल्ली से उम्मीवार बनाया है।

महाबल मिश्रा मूलरूप से बिहार के मधुबनी स्थित सिरियापुर के रहने वाले हैं। वो कई सालों से दिल्ली में पूर्वांचल समुदाय का एक प्रमुख चेहरा रहे हैं। भारतीय सेना से रिटायरमेंट लेने के बाद इन्होंने कई समाजिक कार्य किए। इनका जन्म 31 जुलाई 1953 को हुआ था, और ये अपनी पत्नी, एक बेटी और दो बेटों के साथ दिल्ली में रहते हैं। उन्होंने डिप्लोमा इन ट्रांजिस्टर थ्यौरी से डिप्लोमा किया है। आर्मी से रिटायर्ड होने के बाद वो 1982 में सामाजिक कार्यों में लग गए। उन्होंने 1997 में पहली बार पार्षद का चुनाव लड़े और जीते। महाबल मिश्रा 1997 से 2008 तक दिल्ली विकास प्राधिकरण (डीडीए) के सदस्य रहे। साल 1998 में वो दिल्ली के नसीरपुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक चुने गए। साल 2003 और 2008 के दिल्ली विधानसभा चुनाव में वो लगातार दूसरी और तीसरी बार नसीरपुर से विधायक चुने गए।

सहीराम पहलवान का जन्म दक्षिणी दिल्ली के तुगलकाबाद विधानसभा क्षेत्र के तेंखंड गांव में हुआ। इनके पिता एक समाजसेवी थे। सहीराम कुश्ती के खिलाड़ी रहे हैं, जिसके कारण इनके नाम के साथ “पहलवान“ शब्द भी जुड़ गया। इन्होंने केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) में भी अपनी सेवा दी है। सामाजिक कार्यों में रूचि होने के कारण इन्होंने सीआईएसएफ से इस्तीफा दे दिया। सहीराम पहलवान के राजनीतिक करियर की शुरुआत 1997 से हुई, जब वो पहली बार एमसीडी में पार्षद चुने गए। साल 1999 से 2002 तक वो दिल्ली नगर निगम (मध्य क्षेत्र) के अध्यक्ष रहे। साल 2007 और 2013 में सहीराम पहलवान लगातार दूसरी और तीसरी बार निगम पार्षद चुने गए। इसके बाद 2013 में वो एमसीडी के डिप्टी मेयर पद पर रहे। 2015 में सहीराम पहलवान पहली बार अपनी जन्मभूमि तुगलकाबाद विधानसभा सीट से विधायक चुने गए। 2020 में वो दूसरी बार इसी सीट से दिल्ली विधानसभा के सदस्य बनें। इस साल 2024 में सहीराम पहलवान दक्षिण दिल्ली से लोकसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार हैं।

नई दिल्ली लोकसभा सीट से प्रत्याशी सोमनाथ भारती मालवीय नगर विधानसभा से लगातार तीसरी बार विधायक हैं। वो दिल्ली सरकार के पूर्व कानून, प्रशासनिक सुधार, कला और संस्कृति मंत्री रह चुके हैं। वर्तमान में दिल्ली जल बोर्ड के उपाध्यक्ष हैं। इसके अलावा सोमनाथ भारती तमिलनाडु, पॉन्डिचेरी, केरल, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, अंडमान एवं निकोबार और लक्षद्वीप में “आप“ के प्रभारी हैं। वो आईआईटी दिल्ली एलुमनी एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष और सीनेट के पूर्व सदस्य भी रह चुके हैं। सोमनाथ भारती ने 1997 में आईआईटी दिल्ली से एमएससी की डिग्री हासिल की। फिर दिल्ली यूनिवर्सिटी से कानून की डिग्री लेकर दिल्ली हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में प्रैक्टिस शुरू की। उन्होंने कानून को अपना पेशा बनाने के बाद भी न्यायिक सुधारों और समाज के असहाय, गरीब और अनपढ़ लोगों की ओर से विभिन्न मुद्दों पर कई जनहित याचिकां दायर करके शासन व्यवस्था पर बार-बार सवाल उठाए।

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी