June 18, 2024 6:21 pm
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

पूर्व प्रधान मंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी के शहादत दिवस के मौके पर श्रद्धांजलि देते हुए अखिल भारतीय महिला कांग्रेस ने महिला वकीलों का राष्ट्रीय कॉनक्लेव’ कार्यक्रम का किया आयोजन

sona davi ad june 1

सोशल संवाद/दिल्ली(रिपोर्ट-सिद्धार्थ): आधुनिक भारत के शिल्पकार, पूर्व प्रधान मंत्री भारत रत्न स्वर्गीय राजीव गांधी के शहादत दिवस पर उन्हें सादर श्रद्धांजलि देते हुए अखिल भारतीय महिला कांग्रेस ने महाराष्ट्र सदन में ‘न्याय वाहिनी II, महिला वकीलों का राष्ट्रीय कॉनक्लेव’ कार्यक्रम का आयोजन किया। इस मौक़े पर राष्ट्रीय अध्यक्ष नेटा डीसूज़ा जी ने कहा कि भारतीय संविधान के 73वें और 74वें संशोधन के माध्यम से भारत की महिलाओं को राजनीतिक रूप से सशक्त बनाने की दिशा में राजीव गाँधी के सराहनीय कदम हमेशा याद रखे जाएंगे।

नारी सशक्तिकरण के इसी भाव को ध्यान में रखते हुए आज देश में महिलाओं को कानूनी सहायता और स्वतंत्रता दिलाना AIMC के इस कार्यक्रम का मूल उद्देश्य है। इस आयोजन के मुख्य अतिथियों में शामिल रहे- विवेक तन्खा , मनीष तिवारी , दलबीर सिंह, वरिष्ठ वकील के टी एस तुलसी, जे पी अग्रवाल, के सी मित्तल, पवन बंसल, माणिकराव ठाकरे, सलमान ख़ुर्शीद और उदित राज ।  AIMC की राष्ट्रीय अध्यक्ष नेटा डीसूज़ा ने सभी गणमान्यों के साथ मिलकर दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की।

नेटा डीसूज़ा जी ने इस अवसर पर महिला कांग्रेस के साथ जुड़े देशभर से आये अधिवक्ताओं का अभिनन्दन किया और महिलाओं के लिए कानूनी सशक्तिकरण की एहमियत पर ज़ोर डाला। उन्होंने महिला कांग्रेस की निशुल्क हेल्पलाइन STREE पर आने वाली कानूनी मदद की गुहारों पर प्रकाश डाला और बताया की हमारा उद्देश्य है कि आने वाले समय में हर ज़िले में कम से कम 5 महिला वकील मदद के लिए मौजूद रहे। महिला वकीलों को सम्बोधित करते हुए वरिष्ठ कांग्रेस नेता मनीष तिवारी जी ने कहा की लोगों के मन से थाने जाने का डर निकालना होगा। जब तक पुलिस सेंसिटिव नहीं होगी तब तक दिक्कत बनी रहेगी।

राज्यसभा सांसद के टी एस तुलसी जी ने कहा- न्याय मिलने में अगर 10 साल लग जाएँ तो वह न्याय नहीं अन्याय है। राजीव गाँधी की सोच को सलाम करते हुए दलबीर सिंह जी ने कहा की समस्या सिर्फ यह है की हमारे देश में महिलाएं अपनी मर्ज़ी से किसी को चुनने के मुलभुत अधिकार से वंचित हैं वरिष्ठ कांग्रेस नेता जे पी अग्रवाल जी ने अपने सम्बोधन में राजीव गाँधी जी को याद किया और कहा की संचार और कम्यूटर क्रांति राजीव जी की अलग सोच की ही देन है कार्यक्रम का समापन करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष नेटा डीसूज़ा जी ने ज़ोर देकर कहा कि ये मुहिम जारी रहनी चाहिए। महिला सशक्तिकरण की इस मुहिम में देशभर से आये हमारे अधिवक्ताओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया और नारी शक्ति के भाव को आगे बढ़ाने का प्रण लिया।

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी