May 19, 2024 5:16 am
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

अर्का जैन यूनिवर्सिटी ने एम्वेरसिटी, बेंगलुरु के साथ किया एमओयू, एलायड  हेल्थ केयर के तीन नये प्रोग्रॅम्स हो रहे शुरू

Xavier Public School april

सोशल संवाद/जमशेदपुर : अर्का जैन यूनिवर्सिटी ने पिछले दिनों बेंगलुरु स्थित नवोन्मेषी शिक्षण संस्थान ‘एम्वेरसिटी’ के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर मुहर लगायी जिसके अंतर्गत यूनिवर्सिटी में तीन नये प्रोग्रॅम्स आरंभ किये जा रहे हैं, जिनमें प्रवेश ले कर साइन्स स्ट्रीम से प्लस टू उत्तीर्ण कोई भी विद्यार्थी एलायड हेल्थ केयर के क्षेत्र में करियर बना सकता है. इसमें बीएससी (ऑनर्स) इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी, बीएससी (ऑनर्स) इन एनेस्थेसिया एंड ऑपरेशन थियेटर टेक्नोलॉजी, बीएससी (ऑनर्स) इन इमर्जेंसी मेडिकल टेक्नोलॉजी शामिल है. ये तीनों चार वर्षीय स्नातक प्रोग्रॅम्स हैं. इन प्रोग्रॅम्स के माध्यम से न सिर्फ अर्का जैन यूनिवर्सिटी ज्ञान सह व्यवहार कुशल मानव संसाधन तैयार करने के अपने उद्देश्य को पूरा करने में सफल  होगी, वरन एलायड हेल्थ केयर के क्षेत्र में नयी क्रांति आयेगी. यूनिवर्सिटी ने एम्वेरसिटी के साथ ये समझौता किया क्यूंकी एम्वेरसिटी इस क्षेत्र में एक अग्रणी संस्था है जिसके साथ जुड़ कर अर्का जैन यूनिवर्सिटी एलायड हेल्थ केयर के क्षेत्र में नये आयाम स्थापित करेगी. विदित हो कि एलायड हेल्थ केयर का कार्य बल स्वास्थ्य देखभाल क्षेत्र का लगभग साठ फीसदी होता है जिसकी वजह से इस क्षेत्र में रोज़गार मिलने की प्रबल संभावना होती है. चिकित्सा सहायक सबसे तेजी से बढ़ती चिकित्सा नौकरियों में से एक है.

तीनो प्रोग्रॅम्स की रूप रेखा और पाठ्यकर्म को एम्वेरसिटी की सहभागिता के साथ विकसित किया गया है. प्रोग्रॅम्स की अवधि के दौरान एम्वेरसिटी के विशेषग्य विद्यार्थियों के सेशन्स नियमित रूप से ले कर उन्हे थियरी और प्रॅक्टिकल के बीच के फ़र्क़ को कम करने में महती भूमिका निभाएँगें. इन प्रोग्रॅम्स के विद्यार्थियों को एम्वेरसिटी की तरफ़ से प्लेसमेंट संबंधित अवसर भी प्रदान किए जाएँगें और अंतिम वर्ष की इंटेर्नशिप के लिए भी हर संभव सहयोग किया जाएगा. साथ ही उन्हें इंटेर्नशिप के दौरान स्टाइपंड, जो की एक तरह की अलोवेन्स होती है, वो भी प्रदान की जाएगी. वीदित हो कि तीनों प्रोग्रॅम्स के चौथे वर्ष में विद्यार्थियों को एक साल के लिए अस्पताल में इंटेर्नशिप करनी है जिससे कि तीन सालों की थेओरी की पढ़ाई को प्रॅक्टिकल के माध्यम से वो क्रियान्वित करेंगे. अर्का जैन यूनिवर्सिटी इन तीनों प्रोग्राम का संचालन एम्वेरसिटी के सहयोग से करेगी.  विद्यार्थियों को प्रोग्राम फी जमा करने के संबंध में सुविधा देने का भी प्रावधान है ताकि वो फी आसान किष्तों में जमा कर सकें.

उद्योग-संरेखित पाठ्यक्रम

उक्त प्रोग्राम को उद्योग विशेषज्ञों के सहयोग से डिज़ाइन किया गया है, ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि विद्यार्थी अपने चुने हुए क्षेत्रों में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए आवश्यक कौशल से लैस हों. इसके लिए एम्वेरसिटी की ओर से प्रोग्राम को रूचिकर और गहन शिक्षण अनुभव हेतु बनाने के लिए अत्याधुनिक तकनीक और इंटरैक्टिव शिक्षण विधियों को शामिल किया गया है.

तेज़ी से प्रदेश के विद्यार्थियों की पसंद बन रहे हैं हेल्थ केयर के प्रोग्रॅम्स

झारखंड में हेल्थ केयर के क्षेत्र में रुचि रखने वाले विद्यार्थियों की संख्या में तेज़ी से इज़ाफा हो रहा है जिसको ध्यान में रखते हुए ये तीनों प्रोग्रॅम्स शुरू किए गये हैं. बीएससी (ऑनर्स) इन मेडिकल लेबोरेटरी टेक्नोलॉजी, बीएससी (ऑनर्स) इन एनेस्थेसिया एंड ऑपरेशन थियेटर टेक्नोलॉजी, बीएससी (ऑनर्स) इन इमर्जेंसी मेडिकल टेक्नोलॉजी, तीनों ही प्रोग्रॅम्स में विद्यार्थियों को थ्योरी की बजाय प्रैक्टिकल शिक्षा/प्रशिक्षण की तर्ज़ पर ज्यादा सीखने को मिलेगा. अर्का जैन यूनिवर्सिटी इन तीनों प्रोग्राम का संचालन एम्वेरसिटी के सहयोग से करेगी. बता दें कि एम्वेरसिटी भारत में शिक्षा के परिदृश्य में क्रांति लाने के लिए समर्पित अग्रणी संस्थान है जिसका मिशन तेजी से बदलती दुनिया में आगे बढ़ने के लिए विद्यार्थियों को ज्ञान व कौशल से परिपूर्ण बनाने के साथ ही उन्हें मानसिक तौर पर सशक्त बनाना है.

मजबूत पारस्परिक औद्योगिक संबंध

अर्का जैन यूनिवर्सिटी की ओर से बताया गया है कि विद्यार्थियों को इंटर्नशिप, नौकरी और वास्तविक दुनिया में सीखने के अवसरों तक पहुंच प्रदान करने के लिए अग्रणी संगठनों के साथ रणनीतिक साझेदारी बनाई गयी है. साथ ही बेहतर नेटवर्क, अन्वेषण, नवाचार, सहयोग और शैक्षणिक उत्कृष्टता का केंद्र तैयार किया गया है. चाहे अत्याधुनिक सुविधाओं की बात हो या विद्यार्थी जीवन को मार्गदर्शन प्रदान करने के लिए आदर्श पृष्ठभूमि प्रदान करने की, यूनिवर्सिटी हर तरह से विद्यार्थियों के विकास के लिए प्रतिबद्ध है.

एलायड हेल्थ केयर के क्षेत्र में आयेगी क्रांति

यूनिवर्सिटी के निदेशक सह कुलसचिव डॉ अमित कुमार श्रीवास्तव और एम्वेरसिटी के बिजनेस हेड राहुल राज ने इस अवसर पर संयुक्त वक्तव्य जारी करते हुए बताया कि ये तीनों नये पाठ्यक्रम हेल्थ केयर के क्षेत्र में करियर बनाने में इच्छुक विद्यार्थियों के लिए मील का पत्थर साबित होंगे. आगे उन्होने बताया कि एलायड हेल्थ केयर अपार संभावनाओं से भरा हुआ क्षेत्र है. इस अवसर पर इन दोनों अधिकारियों के अलावा यूनिवर्सिटी मैनेजमेंट बोर्ड के चेयरमैन डॉ एसएस रजी, परिसर निदेशक सह डीएसडब्ल्यू डॉ अंगद तिवारी, संयुक्त कुलसचिव डॉ जसबीर धंजल, समेत अन्य उपस्थित थे. उन्होने इस अवसर पर हर्ष प्रकट करते हुए कहा कि उन्हें पूर्ण विश्वास है कि इन तीनो प्रोग्रॅम्स से इच्छुक विद्यार्थियों को भविष्य बनानें में काफ़ी लाभ होगा.

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी