April 24, 2024 12:51 pm
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

भाजपा जमशेदपुर महानगर ओबीसी मोर्चा ने भुइयांडीह में किया ओबीसी सामाजिक सम्मेलन का आयोजन

Xavier Public School april

सोशल संवद/जमशेदपुर: भाजपा जमशेदपुर महानगर के तत्वावधान में शनिवार को विशाल सम्मेलन का आयोजन किया। भुइयांडीह क्षेत्र स्थित बाबुडीह छठ घाट के समीप जमशेदपुर ओबीसी मोर्चा के जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र प्रसाद के नेतृत्व में आयोजित सम्मेलन में बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों ने भाग लिया। इस दौरान झारखंड विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष, पूर्व मंत्री सह चंदनकियारी के विधायक अमर बाउरी, बिहार प्रदेश के मधुबनी जिले के खजौली विधानसभा के विधायक एवं मोर्चा केझारखंड प्रदेश प्रभारी अरुण शंकर प्रसाद एवं ओबीसी मोर्चा के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष अमरदीप यादव, प्रदेश मंत्री सह जमशेदपुर लोकसभा के संयोजक नंदजी प्रसाद, भाजपा जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष सुधांशु ओझा, पूर्व जिलाध्यक्ष गुंजन यादव समेत अन्य नेतागण मुख्यरूप से शामिल हुए। सम्मेलन में वक्ताओं ने पीएम आवास योजना, उज्जवला योजना, विश्वकमा योजना, आयुष्मान योजना, किसान सम्मान निधि, इज्जत घर, हर घर जल योजना सहित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली केंद्र सरकार की कई कल्याणकारी योजनाओं के बारे में जनता को जागरूक किया। सम्मेलन में ओबीसी मोर्चा के जमशेदपुर महानगर जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र प्रसाद ने अथितियों का स्वागत संबोधन करते हुए भाजपा प्रत्याशी विद्युत वरण महतो को भारी मतों से विजयी बनाने की अपील की।

इस अवसर पर सम्मेलन को संबोधित करते हुए नेता प्रतिपक्ष अमर बाउरी ने कहा कि पिछले 10 वर्षों के कार्यकाल में नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के द्वारा अन्य पिछड़ा वर्ग के सामाजिक और आर्थिक विकास को निरंतर बढ़ावा मिला है। 2014 में प्रधानमंत्री बनते ही नरेंद्र मोदी ने वर्षों से काग्रेसी उपेक्षा के शिकार ओबीसी समाज के मान-सम्मान और समग्र उत्थान का जो संकल्प लिया, वह आज चरितार्थ हो रहा है। मोदी सरकार ने अन्य पिछड़ा वर्ग के सामाजिक और आर्थिक विकास को बढ़ावा देकर राष्ट्र के निर्माण में उनका उचित स्थान सुनिश्चित करने के उदेश्य से कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए हैं। नेता प्रतिपक्ष अमर बाउरी ने कहा कि मोदी सरकार ने बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जननायक स्व० कर्पूरी ठाकुर, जो अपने जीवनकाल में शोषित, दलित, पीड़ित, पिछड़ा और वंचित वर्ग के कल्याण के लिए जीवनभर संघर्षरत रहने वाले देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व० चौधरी चरण सिंह, जिनका जीवन किसानों के हितों के लिए सतत् संघर्ष में बीता, ऐसे महान विभूतियों को मरणोपरांत भारत रत्न से सम्मानित करने की घोषणा की। यह ओबीसी नायकों के सम्मान के प्रति नरेन्द्र मोदी सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाती है। कांग्रेस के दशकों लंबे शासनकाल में ओबीसी समाज का कभी भला नहीं हुआ। कांग्रेस ने कभी ओबीसी समाज के लिए काम नहीं किया। कांग्रेस ने हमेशा ओबीसी समाज को प्रताड़ित और अपमानित किया है। जबकि भाजपा ने ओबीसी समाज को सम्मान देकर उनके सर्वागीण विकास की चिंता की है।

नेता प्रतिपक्ष अमर बाउरी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केंद्र में तीसरी बार फिर प्रधानमंत्री बनने जा रहे हैं। स्वयं जनता इस बार के चुनाव में 400 पार का नारा दे रही है। आज भारत देश सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ रहा है। पूरे देश में विकास में ऐतिहासिक कार्य हो रहे हैं। इसका सीधा लाभ समाज के सभी वर्गों को बिना किसी भेदभाव के मिल रहा है। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार ने ओबीसी वर्ग की दशकों से चली आ रही मांग को वर्ष 2018 में पिछडा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा देकर पुरा किया। इसके लिए 123वाँ संविधान संशोधन करके एक नया अनुछेद 338वीं को जोड़ा गया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार का यह निर्णय पिछड़ा वर्ग को न्याय और समानता सुनिश्चित करता है। झारखण्ड में भाजपा की पूर्व सरकार ने 2015 के पंचायत चुनाव और 2018 के नगर निकाय चुनाव में ओबीसी आरक्षण दिया गया।

वहीं, बिहार प्रदेश के मधुबनी जिला के खजौली विधानसभा के विधायक एवं मोर्चा के झारखंड प्रदेश प्रभारी अरुण शंकर प्रसाद ने ओबीसी समाज के लिए मोदी सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं एवं जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि केंद्र सरकार ने जननायक कर्पूरी ठाकुर एवं चौधरी चरण सिंह को भारत रत्न देकर ओबीसी समाज के नायकों का सम्मान किया जबकि पूर्व की कांग्रेस एवं उनकी सहयोगी दलों की सरकारों ने इस पर सोचा तक नहीं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नीट में ओबीसी के आरक्षण की व्यवस्था की तो कई शिक्षण संस्थानों में भी आरक्षण उपलब्ध कराया। पहली बार केंद्रीय मंत्रिमंडल में 27 ओबीसी समाज से आने वालों को जन प्रतिनिधियों स्थान दिया गया। उन्होंने परिवारवाद को लेकर लालू यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि इनकी सोच रही है कि सिर्फ इनके परिवार का कल्याण होगा तो समाज का कल्याण हो जाएगा, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पूरे देशवासियों को परिवार मानकर सबका साथ और सबके विकास की बात करते हैं। देश में वंशवादी पार्टियों ने सिर्फ अपने परिवार को बचाने के लिए देश के संसाधनों को जमकर लुटा है।

वहीं, मोर्चा के झारखंड प्रदेश अध्यक्ष अमरदीप यादव ने कहा कि ओबीसी समाज भाजपा की विचारधारा से जुड़कर एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियों में आस्था रखते हुए उनके हाथों को मजबूत करने का काम कर रहा है। उन्होंने आह्वान करते हुए कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में ओबीसी समाज भाजपा के उम्मीदवार विद्युत वरण महतो को जमशेदपुर लोकसभा से भारी मतों के साथ विजयी बनाएं। अमरदीप यादव ने कहा कि मोर्चा के सभी कार्यकर्ता एकजुट होकर फिरसे नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में मजबूत सरकार बनाने के लिए पूरे तन्मयता से कार्य करें। प्रदेश मंत्री सह जमशेदपुर लोकसभा के संयोजक नंदजी प्रसाद ने कहा कि विश्वकर्मा जयंती के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पांरपरिक कारीगरों और शिल्पकारों को सशक्त बनाने के लिए पीएम विश्वकर्मा योजना की शुरूआत की जिसमें 13000/- करोड़ रु. के बजट के साथ इसकी शुरुआत की गई। इस योजना का लक्ष्य लगभग 30 लाख परिवारों को आत्मनिर्भर बनाना है, जिससे उन्हें अपने पारंपरिक शिल्प और कौशल को बनाए रखने और विकसित करने में सहायता मिलेगी। इस योजना के अन्तर्गत 18 पांरपरिक व्यवसाय जैसे नाई, बढ़ई, लोहार, सुनार, कुम्हार, धोबी, मोची, राजमिस्त्री आदि को शामिल किया गया है।

भाजपा जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष सुधांशु ओझा ने कहा कि भारत की संसद में भाजपा के 85 से अधिक सांसद ओबीसी वर्ग से आते है, आजादी के बाद पहली बार किसी सरकार ने 27 ओबीसी सांसदो को केंद्रीय कैबिनेट में जगह दी है। इतना ही नहीं प्रदेश सरकारों में भी मुख्यमंत्री, उपमुख्यमंत्री एवं मंत्री पद पर ओबीसी वर्ग का नेतृत्व बढ़ रहा है। बीजेपी के देश में 365 ओबीसी विधानसभा सदस्य है। 65 ओबीसी विधान परिषद सदस्य है। भाजपा जमशेदपुर महानगर के पूर्व अध्यक्ष गुंजन यादव ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार ने अन्य पिछडा वर्ग में उद्यमिता को बढ़ावा देकर उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना अहम भूमिका निभा रही है। 2016 में इस योजना की शुरूआत के बाद से अब तक वितरित 40 करोड रूपये से अधिक ऋणों में से आधे से अधिक ओबीसी, एससी और एसटी वर्गों के उद्यमियों को आवंटित किए गए है। ओबीसी वर्ग के छात्रों को मेडिकल शिक्षा के अधिकतम अवसर मिले इसके लिए सरकार ने अन्य पिछडा वर्ग के लिए मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट में 27 प्रतिशत आरक्षण लागू किया। यह आरक्षण एमबीबीएस, एमडी और डेंटल पाठ्यक्रमों पर भी लागू किया जा रहा है।

सम्मलेन के दौरान मंच संचालन ओबीसी मोर्चा के जिला मंत्री मिथिलेश साव एवं धन्यवाद ज्ञापन जिला महामंत्री राजकुमार साह ने किया। सम्मेलन में मिथिलेश सिंह यादव, डॉ राजीव, सांसद प्रतिनिधि संजीव कुमार, मोर्चा के प्रदेश महामंत्री हलदर नारायण साह, पवन अग्रवाल, रंजीत गुप्ता, ओमप्रकाश साह समेत सैकड़ों कार्यकर्ता व स्थानीय निवासी मौजूद रहे।

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी