February 24, 2024 6:02 pm

कांग्रेस बोली- मोदी सरकार के दस साल के अन्याय काल का मुकाबला, पांच न्याय के द्वारा ही हो सकता है

सोशल संवाद/दिल्ली (रिपोर्ट – सिद्धार्थ प्रकाश ) : कांग्रेस ने बुधवार को कहा कि मोदी सरकार के दस साल के अन्याय काल का मुकाबला, पांच न्याय के द्वारा ही हो सकता है। कांग्रेस संचार विभाग के प्रभारी महासचिव जयराम रमेश ने कहा कि युवा न्याय, भागीदारी न्याय, ⁠⁠नारी न्याय, किसान न्याय और श्रमिक न्याय ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के पांच स्तंभ हैं।  यह बातें जयराम रमेश ने असम के बोंगाईगांव में आयोजित पत्रकार वार्ता में कहीं। इस दौरान उनके साथ लोकसभा में कांग्रेस के उपनेता गौरव गोगोई भी मौजूद थे। 

जयराम रमेश ने कहा कि कल राहुल गांधी जी ने चुनाव का शंखनाद बजा दिया है, जो पांच न्याय पर आधारित है। कल राहुल गांधी जी ने ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के पांच स्तंभों का जिक्र किया। यह युवा न्याय, भागीदारी न्याय, ⁠⁠नारी न्याय, किसान न्याय और श्रमिक न्याय हैं। पांच न्याय के आधार पर ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ का विचार और उसकी रणनीति बनाई गई है। अगले 15-20 दिनों में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे जी, राहुल गांधी जी और अन्य नेता इन पांच न्याय को लेकर विस्तार से देश के सामने बात रखेंगे। देश को पिछले दस साल का अन्याय काल भुगतना पड़ा है। उससे छुटकारा पाने के लिए ये पांच न्याय ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ के माध्यम से कांग्रेस जनता तक पहुंचा रही है। दस साल के अन्याय काल का मुकाबला इन्हीं पांच न्याय के द्वारा ही हो सकता है।  

जयराम रमेश ने यात्रा के आगामी कार्यक्रमों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ मुंबई में समाप्त होगी और उसके बाद कांग्रेस का संगठन चुनावी प्रक्रिया में लग जाएगा। ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ कल पश्चिम बंगाल पहुंचेगी। 26-27 जनवरी को यात्रा नहीं होगी और 28 जनवरी को पश्चिम बंगाल में यात्रा शुरू होगी। उन्होंने कहा कि वह असम के मुख्यमंत्री का धन्यवाद देना चाहते हैं, जिन्होंने यात्रा को अपनी धमकियों से पब्लिसिटी दी।

कांग्रेस डरने वाले नहीं हैं, कांग्रेस पीछे नहीं हटेगी। वहीं गौरव गोगोई ने कहा कि ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ का आज 11वां दिन है। पूरे नॉर्थ ईस्ट की तरफ से वह राहुल गांधी जी को धन्यवाद देते हैं कि वो हमारे बीच आए। आज असम में यात्रा का सातवां दिन है। जिस प्रकार से राहुल गांधी जी ने असम की संस्कृति का आदर किया, उसे समझा और जनता से मिले, उसके लिए वह उनका आभार प्रकट करते हैं। वह राहुल गांधी जी को ‘असम का बेटा’ का दर्जा देना चाहेंगे और असम को इससे अच्छा ब्रांड एम्बेसडर नहीं मिल सकता है।

गोगोई ने कहा कि राहुल गांधी जी ने असम में श्रमिकों, विभिन्न जनजातियों, युवाओं एवं महिलाओं की समस्याओं को सुना। आज केन्द्र में दस साल और असम में आठ साल से भाजपा की सरकार है, लेकिन फिर भी यहां बहुत समस्याएं हैं, क्योंकि भाजपा नफरत फैलाकर खुद को मजबूत कर रही है। यहां पर आर्थिक असमानता बढ़ती जा रही है। गरीब और गरीब हो रहे हैं, अमीर और अमीर हो रहे हैं। गोगोई ने कहा कि ‘भारत जोड़ो न्याय यात्रा’ ने असम में फैलाए गए डर और दहशत के माहौल के बीच लोगों को ताकत दी है। यही इस यात्रा की सबसे बड़ी खूबी रही है। राहुल गांधी जी की निडरता देखकर असम की जनता को अपनी लड़ाई लड़ने की शक्ति मिली है। न्याय की लड़ाई में मोहब्बत का अस्त्र देने के लिए हम राहुल गांधी जी के आभारी हैं। कल हम असम से उन्हें प्यार भरी विदाई देंगे।

Our channels

और पढ़ें