February 24, 2024 10:30 am

दिल्लीवासी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से दिल्ली में प्रदूषण पर एक श्वेत पत्र वक्तव्य चाहते हैं – वीरेंद्र सचदेवा

सोशल संवाद/दिल्ली(रिपोर्ट- सिद्धार्थ प्रकाश): दिल्ली भाजपा अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने कहा है कि बहुत बड़ी संख्या में दिल्लीवासियों को बढ़ते प्रदूषण के चिकित्सीय दुष्प्रभावों का सामना करना पड़ रहा है। इस साल अब तक उत्तर भारतीय राज्यों से रिपोर्ट किए गए कुल 52000 मामलों में से अकेले पंजाब से 36000 से अधिक खेत में आग लगने के मामले सामने आए हैं। सचदेवा ने कहा है कि यह देखना शर्मनाक है कि अरविंद केजरीवाल सरकार ग्रेप IV प्रदूषण से पीड़ित दिल्लीवासियों को यह बताने की कोशिश कर रही है कि पंजाब में खेतों में आग लगने की संख्या कम हो गई है। अगर ऐसा है तो फिर दिल्ली में AQI में राहत क्यों नहीं मिल रही है।

सचदेवा ने कहा है कि आप सरकार की लापरवाही के कारण पंजाब के खेतों की आग दिल्ली और उत्तर भारत में प्रदूषण का सबसे बड़ा स्रोत बनी हुई है। जहाँ हरियाणा सरकार ने प्रोत्साहन राशि देकर खेत जलने घटनाएं नगण्य कर दी वहीं पंजाब सरकार ने अपने किसानों को ना कोई प्रोत्साहन राशि दी ना ही टेक्निक उपलब्ध कराई जिसका परिणाम है 36000 से अधिक खेत जलने की घटनाएं।

दिवाली के आसपास केजरीवाल सरकार ने पटाखे जलाने पर दोष मढ़ने की कोशिश की, लेकिन पिछले 11 दिनों से कोई पटाखा नहीं जलाया गया है, निर्माण गतिविधियां भी न्यूनतम स्तर पर हैं, तो यह मानने का कारण है कि पंजाब से खेतों में आग लगने के आंकड़ों में हेराफेरी की गई है। वीरेंद्र सचदेवा ने कहा है कि दिल्लीवासी मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से दिल्ली में प्रदूषण पर श्वेत पत्र का बयान चाहते हैं, लेकिन वे जानते हैं कि वह दिल्ली को गैस चैंबर बनाने की जिम्मेदारी लेने के लिए आगे नहीं आएंगे।

 

 

 

 

Our channels

और पढ़ें