June 18, 2024 5:52 pm
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

ईडी के आरोप कांग्रेस सरकार और सीएम बघेल की छवि धूमिल करने की साजिश- कांग्रेस 

sona davi ad june 1

सोश्ल संवाद /दिल्ली (रिपोर्ट – सिद्धार्थ प्रकाश )  : कांग्रेस ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के खिलाफ प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के आरोपों पर तथ्यों के साथ पलटवार किया है। कांग्रेस ने ईडी के आरोपों को छत्तीसगढ़ की कांग्रेस सरकार और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की छवि धूमिल करने की साजिश करार दिया है। कांग्रेस ने कहा कि यह साजिश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा रची गई है। विधानसभा चुनावों में भाजपा की हार निश्चित है, इसलिए प्रधानमंत्री और भाजपा ने ईडी व सीबीआई का दुरुपयोग शुरू कर दिया है। छत्तीसगढ़ की जनता इस विधानसभा चुनाव में भाजपा को करारा जवाब देगी। नई दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में कांग्रेस के संगठन महासचिव केसी वेणुगोपाल, कांग्रेस संचार विभाग के प्रभारी महासचिव जयराम रमेश और कांग्रेस कार्य समिति के सदस्य डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी ने ईडी के आरोपों को झूठ का पुलिंदा बताया। कांग्रेस महासचिव केसी वेणुगोपाल ने कहा कि चुनावों में भाजपा के लिए मुख्य हथियार ईडी और इनकम टैक्स बन जाती है।

कर्नाटक में चुनाव के दौरान ही 100 कांग्रेस उम्मीदवारों पर छापेमारी की गई थी। अब छत्तीसगढ़, राजस्थान, मध्य प्रदेश, तेलंगाना और मिजोरम में कांग्रेस सरकार बनाने जा रही हैं। चुनावों में हार देखकर भाजपा अपने आखिरी हथियार ईडी का इस्तेमाल करती है। ईडी की इस पूरी कार्रवाई का मकसद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल और छत्तीसगढ़ सरकार की छवि को धूमिल करना है। वहीं राज्यसभा सांसद डॉ. अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि ऑनलाइन बेटिंग ऐप मामले में मार्च 2022 से छत्तीसगढ़ सरकार कार्रवाई कर रही है। अभी तक छत्तीसगढ़ पुलिस ने 450 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 70 से अधिक केस दर्ज हुए हैं। 191 लैपटॉप, 865 मोबाइल, डेढ़ करोड़ से अधिक की संपत्ति, 41 लाख से अधिक नकद और 16 करोड़ के अनुमानित मूल्य के बैंक खाते जब्त किए हैं।

डेढ़ साल बाद चुनाव में जब चार दिन बचे हैं तो केंद्र सरकार के निर्देश पर ईडी की एंट्री होती है। एक कहानी सुनाई जाती है कि हमने ऐसे शख्स को पकड़ा है जो दुबई से पैसे लेकर छत्तीसगढ़ आया और यहां चुनाव के लिए पैसे दिए जाने थे। सबसे दुर्भाग्यपूर्ण बात यह है कि पहले आरोप लगाए जाते हैं और फिर अंत में कहा जाता है कि इसकी जांच करेंगे। सिंघवी ने कहा कि छत्तीसगढ़ में ईडी द्वारा अफसरों को परेशान किया जा रहा है। इन अफसरों के बारे में चार्जशीट में कोई भी तथ्य नहीं दिया गया है। इनको बताया नहीं जाता कि ये अभियुक्त हैं या इन्हें साक्ष्य के रूप में बुलाया जा रहा है। ईडी भाजपा का इलेक्शन डिपार्टमेंट बन गया है। यह ईडी नहीं, बल्कि झूठ का कार्यालय है। यह भी सबको पता है कि भाजपा की ईडी के साथ साझेदारी-सहयोग भी है। हार को करीब देखकर भाजपा का ईडी के साथ गठबंधन भी बड़ी तेजी से आगे बढ़ रहा है।

वहीं जयराम रमेश ने कहा कि छत्तीसगढ़ और राजस्थान के चुनावों में भाजपा की हार निश्चित है, इसीलिए प्रधानमंत्री और भाजपा ने ईडी और सीबीआई का दुरुपयोग शुरू कर दिया है। यह प्रतिशोध की राजनीति है। ऑनलाइन बेटिंग ऐप मामले में मार्च 2022 से छत्तीसगढ़ सरकार कार्रवाई कर रही है। ओडिशा, दिल्ली, मध्य प्रदेश में छापे मारे गए हैं, लेकिन राज्य की पुलिस दुबई में छापे नहीं मार सकती है। केंद्र को कार्रवाई करनी है,

लेकिन अब तक कुछ नहीं किया है। दूसरी तरफ, इन ऐप पर 28 प्रतिशत जीएसटी लागू करके केंद्र सरकार ने ऑनलाइन बेटिंग ऐप को कानूनी दर्जा दे दिया है।केंद्रीय मंत्री स्‍मृति ईरानी के आरोपों पर पूछे एक प्रश्न के उत्तर में जयराम रमेश ने कहा कि 24 अगस्‍त, 2023 को छत्‍तीसगढ़ के मुख्‍यमंत्री ने मांग की थी कि महादेव ऐप पर प्रतिबंध लगाना चाहिए और ऐप के मालिक रवि उप्‍पल और सौरभ चंद्राकर को फ़ौरन गिरफ्तार करना चाहिए। केंद्र सरकार ने इस सम्बन्ध में कोई कार्रवाई क्यों नहीं की और दोषियों को भाजपा सरकार ने गिरफ्तार नहीं किया।

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी