February 24, 2024 6:28 pm

राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का पूरा Schedule

सोशल संवाद / डेस्क : आखिरकार कड़ी मशक्कत के बाद प्रभु श्री राम अपनी अयोध्या नगरी में विराजने वाले हैं. 70 एकड़ भूमि पर  उनका भव्य मंदिर बन रहा है. राम मंदिर में रामलला की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा 22 जनवरी 2024 को होनी है. इस दिन का सभी को बेसब्री से इंतजार है. उससे पहले ही कई तरीके के पूजा-पाठ और अनुष्ठान शुरू हो जाएंगे. चलिए आपको पूरी जानकारी देते हैं और इस समारोह में होने वाले अनुष्ठानों से अवगत कराते हैं.

देखें विडियो : राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा का पूरा Schedule | Full Schedule of Ram Mandir Pran Pratishtha

शेड्यूल के मुताबिक़, 15 जनवरी से ही कार्यक्रम शुरू हो जायगा जो कि 22 जन्वारुय को रामलला कि प्राण प्रतिष्ठा के साथ समाप्त होगा .

  • 15 जनवरी 2024 – इस दिन मकर संक्रांति है जिसके साथ ही खरमास खत्म हो रहा हैं. इसी दिन रामलला के विग्रह यानी श्रीराम के बालरूप की मूर्ति को गर्भगृह में स्थापित किया जाएगा. 
  • 16 जनवरी 2024 – इस दिन से रामलला के विग्रह के अधिवास का अनुष्ठान भी शुरू हो जाएगा, जो कि प्राण प्रतिष्ठा का पहला कार्यक्रम है.
  • 17 जनवरी 2024 – इस दिन से रामलला की प्रतिमा को नगर भ्रमण के लिए निकाला जाएगा.
  • 18 जनवरी 2024 – इस दिन से प्राण-प्रतिष्ठा की विधि आरंभ होगी. मंडप प्रवेश पूजन, वास्तु पूजन वरुण पूजन, विघ्नहर्ता गणेश पूजन और मार्तिका पूजन होगा.

यह भी पढ़े : आखिर किसने डिजाईन किया अयोध्या का राम मंदिर

  • 19 जनवरी 2024 – इस दिन राम मंदिर में यज्ञ अग्नि कुंड की स्थापना की जाएगी. खास विधि द्वारा अग्नि का प्रज्वलन होगा. फिर नवग्रह होम होगा. राम मंदिर की वास्‍तु शांति होगी. 
  • 20 जनवरी 2024 – इस दिन राम मंदिर के गर्भगृह को 81 कलशों के जल से पवित्र किया जाएगा.जिसके बाद वास्तु शांति अनुष्ठान होगा. आपको बता दे उन 81 कलशों में अलग-अलग नदियों के इकट्ठा किये गए जल हैं.
  • 21 जनवरी 2024 – इस दिन यज्ञ विधि में विशेष पूजन और हवन के बीच राम लला का 125 कलशों से दिव्य स्नान होगा.
  • 22 जनवरी 2024 – 22 जनवरी को मध्यकाल में मृगशिरा नक्षत्र में रामलला की मूर्ति गर्भगृह में स्‍थापित होगी और महापूजा होगी.

आपको बता दे राम मंदिर में राम लला की मूर्ति स्थापना के लिए 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से  12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक रहेगा. प्राण प्रतिष्ठा के लिए सिर्फ 84 सेकंड का मुहूर्त रहेगा.

Our channels

और पढ़ें