February 24, 2024 5:39 pm

बुखार होने पर नहाना सही है नही, इससे क्या हो सकता है नुकसान?

सोशल संवाद/डेस्क : हर साल सर्दियों को मौसम में लोगों को अक्सर सामान्य सर्दी जुकाम और बुखार आ जाता है. कभी इसकी वजह से मौसम में बदलाव होता है, जिसमें शरीर उसके अनुकूल ढल नहीं पाता है, तो कहीं इसका कारण मौसमी संक्रमण भी होता है. कई लोग यह मानते हैं बुखार में इंसान को बिलुकल ही नहीं नहाना चाहिए. वहीं कई लोगों का मानना है कि ऐसा नियम नहीं है बल्कि कई बुखार में नहाना फायदेमंद हो सकता है. पर आखिर सच क्या है? क्या बुखार में नहाना वाकई फायदेमंद होता है या फिर इसका उलटा सही है?

यह भी पढ़े : शाहरुख खान के सीन पर सेंसर बोर्ड ने दी वॉर्निंग…लगा दी  कट  

नहाना चाहिए या नहीं
विशेषज्ञों का कहना है कि बुखार में किसी भी तरह का नियम नहीं कि उसमें नाहना ही चाहिए या नहाना ही नहीं चाहिए. बल्कि वे कहते हैं कि बुखार में नहाने में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं होती है. दरअसल बुखार आने पर मरीज के शरीर का तापमान बढ़ जाता है, कमजोरी सी महसूस होती है और शरीर में दर्द होता है. ऐसे में नहाने का मन नहीं करता है.

क्या फायदा हो सकता है
ऐसे में यह सवाल उठाना लाजमी है कि बुखार में नहाने चाहिए भी नहीं. कई डॉक्टरों का कहना है कि ऐसे बुखार में  गुनगुने पानी से नहाना फायदेमंद हो सकता है. नहाने से शरीर का तापमान कम होता है और मांसपेशियों को राहत मिलती है. हलका गर्म पानी शरीर को दर्द में भी राहत देने का काम करता है.

नियम की तरह नहीं
लेकिन हर तरह के बुखार में नहाना सही नहीं होता है. जैसे बुखार ज्यादा तेज हो तो नहाना नहीं चाहिए और नहाने का मन हो तो डॉक्टर की सलाह जरूर ले लेनी चाहिए. एक बात यह भी ध्यान में रखनी चाहिए कि बुखार में अगर नहा रहे हैं तो पानी ना तो बहुत ज्यादा गर्म होना चाहिए ना ही बहुत ठंडा होना चाहिए.

Our channels

और पढ़ें