May 19, 2024 4:36 am
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

दिल्ली सरकार के कामों पर चिट्ठी लिखकर रोज़ उपदेश देने वाले LG अपने कामों में फेल रहे हैं – सौरभ भारद्वाज

Xavier Public School april

सोशल संवाद/दिल्ली( रिपोर्ट – सिद्धार्थ प्रकाश ) : पार्टी मुख्यालय में हुई एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं कैबिनेट मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा, कि बीते कुछ दिनों से यह देखा जा रहा है, कि दिल्ली में बड़ी ही खतरनाक किस्म की वारदातें हो रही हैं और दिल्ली की क़ानून व्यवस्था हालात बद से बदतर होती जा रही हैं I उन्होंने कहा कि दिल्ली की सुरक्षा व्यवस्था पिछले कुछ महीनो से लगभग चौपट सी हो गई है I NCRB का डाटा यदि देखा जाए तो इस समय पूरे देश में दिल्ली में क्राइम रेट सबसे उच्च स्तर पर है I उन्होंने कहा कि NCRB के आँकड़ों के मुताबिक आज दिल्ली में एक लाख की आबादी पर लगभग 1832 वारदातें हो रही हैं, जबकि राष्ट्रीय स्तर पर यह औसत लगभग 258 वारदातें प्रति एक लाख हैं I उन्होंने कहा कि दिल्ली में आपराधिक मामलों की औसत देश की वारदातों की तुलना में 7 गुना अधिक है । साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि लगभग 1189 अपराधी मामले प्रतिदिन दिल्ली में रजिस्टर हो रहे हैं I

बीते कल दिल्ली में हुई कुछ भयावह घटनाओं का उदाहरण देते हुए सौरभ भारद्वाज ने कहा, कि कल एक वीडियो सामने आया जिसमें यह देखा गया, कि जाफराबाद इलाके में एक हत्या केस के गवाह को पांच व्यक्तियों ने दिनदहाड़े पब्लिक के सामने चाकू से गोद डाला । उसको क़रीब पचास जगह चाकू मारकर निर्मम हत्या कर दी गई I इसी प्रकार दिल्ली के आरके पुरम जैसे वीआईपी इलाके में एक ऑटो रिक्शा ड्राइवर ने किराए को लेकर हुई कहा सुनी के मामले में सीमा सुरक्षा बल के एक जवान को धारदार हथियार से गला रेत कर मार डाला I ऐसे ही तिलक नगर इलाके में एक कार शोरूम के मालिक से 5 करोड रुपए रंगदारी मांगी जाती है और डराने के लिए कार शोरूम के बाहर पांच राउंड फायरिंग की गई I उन्होंने बताया कि आज ही की खबर है की एक व्यक्ति की हत्या करके शव को नहर में फेंका I

सुरक्षा व्यवस्था के मुद्दे पर बेहद ही गंभीर बात बताते हुए सौरभ भारद्वाज ने कहा, कि यदि इन तमाम मामलों में चार्ज शीट की बात की जाए तो जितने मुकदमे दर्ज होते हैं मात्र 30% मुकदमों में ही चार्ज शीट हो पाती है I उन्होंने कहा कि कुल मुकदमों के मात्र 30% मामलों में ही चार्ज शीट हो पाती है और उन्होंने कहा कि जब 70% मामले कोर्ट तक पहुंच ही नहीं रहे हैं तो अपराधियों को सजा कैसे मिलेगी और पीड़ितों को न्याय कैसे मिलेगा ? उन्होंने कहा कि इस प्रकार से तो अपराधियों के हौसले और अधिक बुलंद होंगे तथा अपराध और अधिक बढ़ेगा I सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली में बढ़ते आपराधिक मामले दिल्ली के उपराज्यपाल महोदय विनय सक्सेना जी की प्रत्यक्ष रूप से असफलता का प्रमाण है I उन्होंने कहा कि दिल्ली के उपराज्यपाल महोदय के पास केवल दो ही काम है पहला दिल्ली पुलिस और दूसरा डीडीए I उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल विनय सक्सेना जी ने दिल्ली की पुलिस व्यवस्था को चौपट कर दिया है I

सौरभ भारद्वाज ने कहा कि दिल्ली के उपराज्यपाल महोदय विनय सक्सेना एक स्कूल के प्रिंसिपल की भांति दिल्ली सरकार के मंत्रियों को चिट्ठियां लिख लिख कर उनके कामकाज पर उपदेश देते हैं। अफ़सरों के माध्यम से सरकार के काम में रुकावटें डाल कर केवल और केवल दिल्ली सरकार के कामों को बाधित करने का कार्य कर रहे हैं, परंतु जो उनके अपने कार्य हैं, दिल्ली की कानून व्यवस्था को सुव्यवस्थित करना और डीडीए विभाग को सुचारू रूप से चलाना, वह अपने खुद के कर्तव्यों में विफल साबित हो रहे हैं I सौरभ भारद्वाज ने बताया कि 2014 में जब केंद्र में भाजपा की सरकार आई उस समय दिल्ली पुलिस में लगभग 5500 पद खाली थे, आज यह रिक्त स्थान बढ़कर लगभग 13000 हो गए हैं I उन्होंने कहा कि पुलिस के पास व्यवस्था को सुचारू रूप से चलाने के लिए पर्याप्त लोग ही नहीं है I उन्होंने कहा एक तो पहले ही पुलिस महकमें के पास पुलिस कर्मचारियों की कमी है और उस पर भी केंद्र सरकार ने पुलिस विभाग का बजट साढे चार प्रतिशत और घटा दिया है I सौरभ भारद्वाज ने कहा कि इस प्रकार तो अपराध की संख्या पर लगाम नहीं लगेगा बल्कि अपराध और अधिक बढ़ते जाएंगे I

महिलाओं से जुड़े अपराधों पर बात करते हुए सौरभ भारद्वाज ने कहा, कि देश के बड़े शहरों में जो महिलाओं के प्रति अपराध देखे जा रहे हैं, उनका लगभग 30% अपराध के मामले केवल दिल्ली शहर में हो रहे हैं और यही नहीं पिछले तीन सालों से दिल्ली में अपराध की घटनाएं अन्य राज्यों के मुकाबले उच्च स्तर पर हैं I उन्होंने कहा कि आज दिल्ली में 14466 केस महिलाओं के साथ हो रही आपराधिक घटनाओं के आ रहे हैं I जो कि 19 राज्यों का क़रीब 30% है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के प्रति इतनी अधिक आपराधिक घटनाएं होने के बावजूद भी दिल्ली के उपराज्यपाल महोदय ने दो ऐसे काम किये जिसकी वजह से व्यवस्था सुधरने की बजाय और बद से बदतर होती चली गई I उन्होंने बताया कि पहला काम उपराज्यपाल महोदय ने दिल्ली की बसों में से महिलाओं की सुरक्षा के लिए लगाए गए 8 हजार बस मार्शलों को हटाने का किया, और दूसरा काम उपराज्यपाल महोदय ने दिल्ली महिला आयोग में महिलाओं की मदद के लिए जारी की गई हेल्पलाइन नंबर 181 को ठप्प करने की कोशिश कर रहे हैं। लगभग 223 कर्मचारियों को हटा कर महिला आयोग को चौपट कर दिया I उपराज्यपाल महोदय दिल्ली सरकार के विभागों के काम में तो टांग अड़ा रहे हैं, दिल्ली सरकार पर तो उंगली उठा रहे हैं, परंतु खुद के अधीन आने वाला कार्य, दिल्ली की कानून व्यवस्था दिन-ब-दिन बदतर होती जा रही है I उन्होंने कहा कि उपराज्यपाल महोदय भ्रष्टाचार पर बड़ी-बड़ी बातें करते हैं, परंतु आज दिल्ली पुलिस विभाग की जांच कर लीजिए दिल्ली में पुलिस विभाग के अंदर भ्रष्टाचार पिछले दो सालों में बहुत अधिक बढ़ा है I सौरभ भारद्वाज ने कहा, कि पिछले 2 सालों में दिल्ली के अंदर आपराधिक घटनाएं बढ़ी हैं, दिल्ली पुलिस में रिक्त स्थान बढ़े हैं, दिल्ली में भ्रष्टाचार बढ़ा है, परंतु उपराज्यपाल महोदय अपना कार्य करने की बजाय दिल्ली की चुनी हुई सरकार के कामों में टांग अड़ा रहे हैं I सौरभ भारद्वाज ने कहा कि मैं मीडिया के माध्यम से दिल्ली के उपराज्यपाल महोदय विनय सक्सेना जी से यह अनुरोध करना चाहता हूं, कि वह अपने विभागों पर ध्यान दें I जो उनको जिम्मेदारियां मिली हैं, अपनी जिम्मेदारियां को सही तरीके से निभाएं और हमें अपना काम करने दें I

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी