June 18, 2024 5:53 pm
Search
Close this search box.
Srinath University Adv (1)

भाजपा नेता अभय सिंह को जमानत मिलने पर भाजपा जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव ने कहा- लंबे समय से न्याय के जिस घड़ी की प्रतीक्षा थी वो पूर्ण हुई

sona davi ad june 1

सोशल संवाद/जमशेदपुर : भाजपा के वरिष्ठ नेता सह जमशेदपुर भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष अभय सिंह को झारखंड उच्च न्यायालय से जमानत दे दी गई। वे करीब छह महीने से जेल में बंद थे। शुक्रवार को अभय सिंह के जमानत मिलने पर एक ओर जहां भाजपा कार्यकर्ताओं में हर्ष का माहौल है तो वहीं, भाजपा जमशेदपुर महानगर ने भी अभय सिंह को उच्च न्यायालय द्वारा जमानत दिए जाने के फैसले का खुले दिल से स्वागत किया है। भाजपा जमशेदपुर महानगर अध्यक्ष गुंजन यादव ने संस्कृत के एक श्लोक से अभय सिंह के जमानत पर खुशी जाहिर करते हुए कहा कि सत्यमेव जयते नानृतं सत्येन पन्था विततो देवयानः।

अंततः सत्य की ही जय होती है न कि असत्य की। लम्बे समय से न्याय की जिस घड़ी की प्रतीक्षा थी वह आज पूर्ण हुई है। पूर्व जिलाध्यक्ष अभय सिंह को उच्च न्यायालय से जमानत दी गयी। उन्हें साजिश और शासन व्यवस्था की प्रताड़ना से अंततः न्याय मिली है। गुंजन यादव ने कहा कि अभय सिंह पर एक-एक कर अलग-अलग मामलों में मुकदमा दर्ज करना एक सोची समझी साजिश थी। ऐसे तुष्टिकरण की साजिश रचने वालों का भाजपा ने हर पल प्रतिकार किया है और इसका मुंह तोड़ जवाब देगी। उन्होंने कहा कि आखिर सत्य की जीत होती है और यह फिरसे साबित हुआ है। सच के कारण ही अभय सिंह को उच्च न्यायालय से से जमानत मिली। उन्होंने शुभकामनाएं व्यक्त करते हुए कहा कि अभय सिंह के जेल से बाहर आने के बाद वे संगठन, सामाजिक, धार्मिक एवं जनसेवा के कार्यों में दोगुनी ऊर्जा के साथ सक्रिय होकर अपने दायित्वों का पूरी कुशलता से निर्वहन करेंगे।

वहीं, भाजपा जमशेदपुर महानगर प्रवक्ता प्रेम झा ने भी पूर्व जिलाध्यक्ष अभय सिंह को जमानत मिलने पर हर्ष जताते हुए उन्हें बधाई दी। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के इशारे पर तुष्टिकरण की नीति को चरितार्थ करते हुए जिला प्रशासन ने अभय सिंह पर झूठे मुकदमे कर आनन-फानन में जेल भेज दिया। जब उन्हें इसमें जमानत मिली तो अलग-अलग मुकदमों में केस दर्ज कर प्रताड़ित किया गया। लंबे संघर्ष के बाद आज सत्य की जीत हुई है और तुष्टिकरण का षड्यंत्र रचने वालों के मंसूबे एक बार फिरसे धराशायी हुई है। उन्होंने कहा कि उच्च न्यायालय के फैसले से पूरे भाजपा परिवार में खुशी व्याप्त है।

Print
Facebook
Twitter
Telegram
WhatsApp
जाने छठ पूजा से जुड़ी ये खास बाते विराट कोहली का जन्म एक मध्यमवर्गीय परिवार में 5 नवंबर 1988 को हुआ. बॉलीवुड की ये top 5 फेमस अभिनेत्रिया, जिन्होंने क्रिकेटर्स के साथ की शादी दिवाली पर पिछले 500 सालों में नहीं बना ऐसा दुर्लभ महासंयोग सोना खरीदने से पहले खुद पहचानें असली है या नकली धनतेरस में भूल कर भी न ख़रीदे ये वस्तुएं दिवाली पर रंगोली कहीं गलत तो नहीं बना रहे Ananya Panday करेगीं अपने से 13 साल बड़े Actor से शादी WhatsApp में आ रहे 5 कमाल के फीचर ये कपल को जमकर किया जा रहा ट्रोल…बच्ची जैसी दिखती है पत्नी