February 24, 2024 5:59 pm

सूर्य मंदिर परिसर को खेल के मैदान बनाने का सूर्य मंदिर समिति की बैठक में सभी सदस्यों ने एकमत से जताई आपत्ति

सोशल संवाद/डेस्क : सिदगोड़ा स्थित सूर्य मंदिर परिसर के आध्यात्मिक व सांस्कृतिक स्थल शंख मैदान में वॉलीबॉल और बास्केटबॉल कोर्ट निर्माण कार्य का सूर्य मंदिर समिति के सभी सदस्यों ने एक स्वर में कड़ी निंदा करते हुए आपत्ति जताई है। गुरुवार को सूर्य मंदिर समिति के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न बैठक में मौजूद समिति के तमाम वरीय पदाधिकारी एवं वरीय सदस्यों के साथ सनातन धर्मावलंबियों ने प्रस्तावित निर्माण कार्य का पुरजोर विरोध करने का निर्णय लिया। बैठक में बताया गया कि मंदिर परिसर के शंख मैदान की पहचान आध्यात्मिक अनुष्ठानों व धार्मिक आयोजनों के कारण है।

यह भी पढ़े : सांसद विद्युत वरण महतो ने केंद्रीय राजमार्ग एवं परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की

जिसके मूल रूप में परिवर्तन किसी भी कीमत पर नही होने दिया जाएगा। बैठक की अध्यक्षता कर रहे सूर्य मंदिर समिति के अध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने कहा कि धर्मविरोधी विधायक सरयू राय शहर के प्रसिद्ध आध्यात्मिक स्थल सूर्य मंदिर परिसर को खेल के मैदान में बदलने की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं। पिछले चार वर्षों से किसी न किसी बहाने सूर्य मंदिर के आयोजनों में और परिसर में व्यवधान उत्पन्न कर अपनी राजनीति कर रहे हैं। इससे पहले, जब चिल्ड्रन पार्क का सौंदर्यीकरण और स्विमिंग पूल निर्माण किया गया तब सूर्य मंदिर समिति की ओर से कोई आपत्ति नही की गयी।

जिससे झाड़ियों से जहरीले सांप, बिच्छु एवं विषैले कीड़े-मौकोड़े आये दिन निकलते रहते हैं, जिस कारण बच्चों का पार्क में जाना मुश्किल हो गया है। पार्क में झूलों से ऊंची हो चुकी झाड़ियां निर्दलीय विधायक सरयू राय एवं जमशेदपुर अक्षेस के विकास एवं रखरखाव के दावों की हवा निकालते हैं। इन सबको देखकर सूर्य मंदिर समिति ने ही पार्क के सम्पूर्ण साफ-सफाई का कार्य किया। इससे पहले भी, छठ घाट तालाब में स्विमिंग पूल निर्माण कार्य को लेकर भी विधायक सरयू राय ने हरसंभव प्रयास किया। कहा कि विधायक सरयू राय अखबारों में बड़ी-बड़ी बातें करते थकते नही है, पिछले दिनों बच्चों के लिए स्विमिंग पूल में ट्रेनर रखकर प्रशिक्षण देने के वादे सिर्फ अखबारों की सुर्खियां बनकर रह गयी।

भूपेंद्र सिंह ने कहा कि सरयू राय बार-बार धार्मिक स्थलों में विकास कार्यों के नाम पर अनावश्यक विवाद खड़ा कर सिर्फ सुर्खियों में बने रहना चाहते हैं। कहा कि सूर्य मंदिर परिसर के छठ घाट तालाब में आने वाले रास्ते के पुराने गेट को काटकर नए गेट लगाए गए, जिसकी कोई आवश्यकता नही थी। ये सिर्फ सरकारी पैसे का दुरुपयोग है। दरअसल, उन्हें क्षेत्र की समस्याओं से कोई सरोकार नही है। भूपेंद्र सिंह ने कहा कि शीघ्र ही इस मामले को वरीय प्रशासनिक पदाधिकारियों से अवगत कराया जाएगा।  

वहीं, सूर्य मंदिर समिति के संरक्षक चंद्रगुप्त सिंह ने कहा कि सूर्य मंदिर के आध्यात्मिक स्थल शंख मैदान में वॉलीबॉल और बास्केटबॉल कोर्ट निर्माण कार्य जैसे कृत्यों से विधायक सरयू राय अपने विधायकी का दुरुपयोग कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हम बच्चों के खेल के मैदान का विरोध नही कर रहे। बल्कि आध्यात्मिक स्थल शंख मैदान और मंदिर परिसर में इस निर्माण कार्य का विरोध कर रहे हैं। शहर के विभिन्न क्षेत्रों में कई खेल के मैदान है। उन स्थानों पर खेल को लेकर निर्माण कार्य करेंगे तो स्थानीय स्तर पर बच्चों में खेल के प्रति रुचि बढ़ेगी। चंद्रगुप्त सिंह ने कहा कि विधायक सरयू राय मुझपर और मंदिर समिति के ऊपर अनर्गल और बेबुनियाद आरोप लगाकर अपनी धर्मवीरोधी मानसिकता को छुपाना चाहते हैं।

बैठक के दौरान रामबाबू सिंह, गुंजन यादव, रामबाबू तिवारी, संजीव सिंह, खेमलाल चौधरी समेत कई वरीय सदस्यों ने अपने विचार रखे। इस दौरान मंच संचालन समिति के उपाध्यक्ष अमरजीत सिंह राजा एवं धन्यवाद ज्ञापन मंत्री बंटी अग्रवाल ने किया। बैठक में चंद्रशेखर मिश्रा, कमलेश सिंह, पवन अग्रवाल, अमरजीत सिंह राजा, रूबी झा, शैलेश गुप्ता, बंटी अग्रवाल, प्रेम झा, कंचन दत्ता, कमलेश साहू, छक्कन चौधरी, कुमार अभिषेक, पुष्पेन्द्र सिंह, अनिकेत राय, अनिमेष सिंह, आशुतोष कुमार, सिद्धार्थ पांडेय, ओम पोद्दार समेत अन्य सदस्यगण मौजूद रहे।

Our channels

और पढ़ें