March 4, 2024 6:20 pm

जिस खिलाड़ी को टीम इंडिया चुनने का जिम्मा, उसके नाम है 5 पारियों में 0 पर आउट होने का विश्व रिकॉर्ड

Advertise

सोशल संवाद/डेस्क : क्रिकेट में आपने किसी भी बैटर का मुंह तब सबसे ज्यादा लटका देखा होगा, जब वह खाता ना खोल पाए. अगर आप टीवी पर पुराने मैचों की रिकॉर्डिंग देखेंगे तो पाएंगे कि जब कोई बैटर 0 पर आउट होकर पैवेलियन लौटता, तो उसके साथ-साथ एक डक (कार्टून) भी मुंह लटकाए, बल्ला घसीटते हुए चलता था. यानी 0 पर आउट होना भले ही खेल का हिस्सा हो, लेकिन इससे बल्लेबाज को कहीं ना कहीं शर्मिंदगी जरूर महसूस होती है. इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे अधिक बार 0 पर आउट होने की यह शर्मिंदगी मुथैया मुरलीधरन ने झेली है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में कुछ ऐसे बैटर भी हैं, जिन्होंने यह शर्मिंदगी एक-दो नहीं, बल्कि लगातार 5 पारियों में झेली है. इन बैटर्स में एक नाम उस क्रिकेटर का भी है, जो आज की तारीख में बीसीसीआई का मुख्य चयनकर्ता है. नाम है अजित आगरकर.

यह भी पढ़े : न विराट न रोहित…इस क्रिकेटर को गूगल पर सबसे ज्यादा किया गया सर्च

अजित आगरकर की गिनती भारत के बेहतरीन क्रिकेटरों में होती है. जब आगरकर अपने करियर के पीक पर थे तब सबसे कम मैचों में 50 विकेट लेने का रिकॉर्ड बनाया था. लॉर्ड्स में शतक भी आगरकर का वो कारनामा है, जिसे याद कर वे अच्छा महसूस करते होंगे. लेकिन यकीन मानिए, जब कभी उन्हें ऑस्ट्रेलिया के 1999-2000 दौरे की याद आती होगी, वे सिहर उठते होंगे. अजित आगरकर ने इस दौरे पर ऐसा रिकॉर्ड बनाया था, जो कोई क्रिकेटर कभी भी ना तो बनाना चाहेगा और ना ही उसकी बराबरी करना चाहेगा. अजित आगरकर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज में लगातार 5 पारियों में 0 पर आउट हुए थे.

अजित आगरकर ने मेलबर्न और सिडनी टेस्ट में पेयर बनाया था. यानी वे मेलबर्न और सिडनी टेस्ट की दोनों पारियों में खाता नहीं खोल सके थे. इससे पहले वे एडिलेड टेस्ट की चौथी पारी में भी बिना खाता खोले आउट हुए थे. अजित आगरकर के ओवरऑल रिकॉर्ड की बात करें तो उन्होंने 26 टेस्ट, 191 वनडे और 4 टी20 इंटरेनशनल मैच खेले हैं. उन्होंने इन तीनों फॉर्मेट में कुल मिलाकर 349 विकेट लिए हैं और 1855 रन बनाए हैं, जिसमें एक शतक और 3 अर्धशतक शामिल हैं. अजित आगरकर फिलहाल बीसीसीआई के मुख्य चयनकर्ता हैं.

Our channels

और पढ़ें